एक्शन मोड में एसओजी, लगातार तीसरी बड़ी सफलता, अवैध शराब फैक्ट्री पकड़ी

 एसओजी टीम की लगातार तीसरी बड़ी सफलता, अवैध शराब फैक्ट्री पकड़ी

उरई। नवागंतुक पुलिस कप्तान के सख्त तेवरों के चलते खाकी इस समय सिंघम के रूप में नजर आ रही है। थानेदारों की जरा सी लापरवाही कप्तान को बिल्कुल रास न आने के चलते जिम्मेदार ऐसी कोई भी गलती नहीं करना चाहते जिसका खामियाजा उनको लाइन जाकर भुगतना पड़े। इसी को लेकर हर थानेदार अपने क्षेत्र में अपराध और अपराधियों पर कहर बनकर टूट रहे हैं। वहीं पुलिस कप्तान का स्पेशल आपरेशन ग्रुप यानी एसओजी भी फुल फार्म में नजर आ रही है। लगातार तीसरी बड़ी सफलता मिलने के चलते एसओजी प्रभारी और उनकी टीम के सदस्यों का मनोबल सातवें आसमान पर है। हालांकि उनकी सफलता के पीछे कोई न कोई थानेदार और सर्विलांस टीम रहती है। आज जो बड़ी सफलता एसओजी टीम को मिली उसके पीछे एट थानाध्यक्ष कमलेश कुमार का भी महत्वपूर्ण योगदान है।

थाना एट एवं एसओजी व सर्विलांस
सेल की संयुक्त कार्रवाई में चार शातिर शराब तस्करों को करीब चार हजार लीटर शराब बनाने के केमिकल के साथ गिरफ्तार करने के साथ भारी मात्रा में नकली शराब बनाने के उपकरण व नकली रैपर, ढक्कन बरामद किए जिसका खुलासा अपर पुलिस अधीक्षक ने किया। पुलिस अधीक्षक डा. यशवीर सिंह ने एसओजी टीम प्रभारी प्रवीण यादव व उनकी टीम को जनपद में सक्रिय अवैध शराब का काम करने वालों पर नजर रखने का निर्देश दिया था जिसके चलते एसओजी टीम ने सर्विलांस टीम व एट थानेदार कमलेश कुमार की मदद से शुक्रवार रात को एट क्षेत्र के ग्राम अजनारा स्थित एक खेत में छापा मारा और वहां चल रही अवैध शराब फैक्ट्री पकड़ ली।। मौके से पुलिस ने
अंतर्जनपदीय शराब तस्कर राकेश शिवहरे निवासी मोहल्ला खंडेराव जालौन हाल निवासी ग्वालियर, धर्मेंद्र राजपूत निवासी ग्राम बम्हौरी थाना आटा,साहिल प्रजापति निवासी ग्राम पिपरियाथाना आटा और राजू शुक्ला उर्फ विश्वनाथ निवासी बकेवर जिला इटावा को पकड़ लिया । इतना ही नहीं मौके से पुलिस को चार हजार लीटर ओपी केमिकल बरामद हुआ जिससे अवैध शराब बनाई जाती थी। इसके अलावा एक बोरी में दो हजार खाली बोलतें, पांच पेटी शराब, नकली बंडल, होलोग्राम, बोतलों में लगने वाले स्टीकर, छह मोबाइल, करीब बीस हजार रुपए सहित एक मोटरसाइकिल और एक लग्जरी कार बरामद हुई पकड़े गए अंतर्जनपदीय शराब तस्करों व अवैध शराब फैक्ट्री का खुलासा शनिवार दोपहर को अपर पुलिस अधीक्षक डा. अवधेश सिंह ने किया जहां उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से यह शराब फैक्ट्री संचालित हो रही थी जिस पर एसओजी व सर्विलांस टीम नजर रखे हुए थी। मौके से पकड़े गए चार अंतर्जनपदीय शराब तस्करों के अलावा ग्यारह अन्य लोग फरार हैं जिन पर रिपोर्ट दर्ज की गई है और जल्दी सभी को पकड़ लिया जाएगा।

बरामद केमिकल से बनती चालीस हजार लीटर शराब पुलिस हिरासत में शराब तस्कर राकेश शिवहरे ने बताया कि बरामद हुए चार हजार लीटर ओपी केमिकल से लगभग चालीस हजार लीटर शराब बनाई जाती है| जिसको वह लोग जालौन जिले में ही नहीं बल्कि आसपड़ोस के जिलों में भी सप्लाई करते हैं। अवैध शराब फैक्ट्री पकड़ने वाली टीम को तीस हजार रुपए का इनाम | अपर पुलिस अधीक्षक डा. अवधेश सिंह ने बताया कि अवैध शराब फैक्ट्री व अंतर्जनपदीय शराब तस्करों को पकड़ने में अहम भूमिका निभाने वाली एसओजी, सर्विलांस टीम व एट पुलिस को आईजी की तरफ से तीस हजार रुपए का इनाम दिया गया है। गिरफ्तार करने वाली टीम केमिकल के द्वारा जहरीली शराब बनाकर बेचने वालों को गिरफ्तार करने वालों में थानाध्यक्ष एट कमलेश कुमार, एसओजी प्रभारी प्रवीण कुमार, सर्विलांस प्रभारी अजय कुमार सिंह, उपनिरीक्षक गणेश मिश्रा, चंदन पांडेय, एसओजी के सिपाही शैलेंद्र चौहान, श्रीराम प्रजापति, निरंजन सिंह, भूपेंद्र सिंह, अश्विनी प्रताप, विनय प्रताप, पुनीत सहित सर्विलांस सेल के गौरव वाजपेई,जगदीश चंद्र, करमवीर सिंह एवं एट थाना के शैलेंद्र चौबे, समीर, अनुज कुमार, भानुप्रताप, आनंद तिवारी शामिल रहे।

पकड़े गए आरोपियों का है आपराधिक इतिहास पकड़े गए शातिर अभियुक्त धर्मेंद्र राजपूत के ऊपर आटा एवं उरई में आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। वहीं राकेश शिवहरे के ऊपर औरैया, कुठौंद, जालौन, डकोर में कुल दस मामले दर्ज हैं। पकड़े गए अभियुक्त काफी समय से अवैध शराब के धंधे में लिप्त बताए जाते हैं।