ओवर ब्रिज होने के बाद भी रेलवे पटरी क्रास कर दूसरी ओर जाते हैं लोग।।

रेलवे पुलिस बनी रहती है मूक दर्शक पटरी के दोनों ओर जाली लगाने की मांग।

कालपी (जालौन)कालपी रेलवे स्टेशन के उस पार तहसील है और एक बस्ती भी है ! वैसे तो रेलवे पटरी पार करने के लिए स्टेशन पर और यमुना की ओर ओवर ब्रिज हैं इसके अलावा उरई की ओर अंडर पास भी है फिर भी देखा जाता है कि लोग जल्दी और सीधे पहुंचने के लिये अपना जीवन खतरे में डालकर रेलवे लाइन पार करते हैं! ऐसा रेलवे स्टेशन पर अधिक होता है जहां रेलवे पुलिस रहती है पर वह मात्र चुपचाप देखती रहती है ! अगर दुर्घटनाओं की बात करें तो रेलवे पुल से कांशीराम कलौनी तक के लगभग एक किलोमीटर की रेल पटरी पर बहुत अधिक होती हैं एक दो माह में एक दुर्घटना तो हो ही जाती है !
पत्र के माध्यम से कालपी रक्षा सेवा समिति तथा तमाम जागरूक नागरिकों ने रेलवे विभाग से मांग की है कि उक्त दूरी पर रेल पटरी के किनारे जाली लगाई जाये ताकि लोग पटरी क्रास न करें साथ ही दुर्घटनाओं पर भी रोक लग सके !