कबीर की नगरी में याद आ रहा प्रभु यीशु का नाम

0

भूखों के लिए पांच रोटी का दान, याद दिला रहा प्रभु यीशु की दास्तान

बाइबिल में छपी कथाओं के अनुसार प्रभु यीशु ने भी अपने भूखे भक्तों को खिलाने के लिए पांच रोटी और दो मछली का अपने शिष्यों से दान मांगा था और मात्र उस पांच रोटी दो मछली से 5000 भक्तों को भोजन कराया और उसके बाद भी भोजन पर्याप्त मात्रा में बचा रहा।उसी तर्ज पर कबीरचौरा मोहल्ले में कैलाशी रविंद्र सहाय ने इस कोरोना जैसी महामारी से लड़ाई के दौरान लाक डाउन के घोषित सरकारी आदेश का पालन करते हुए अपने मोहल्ले के घरों से निराश्रित और भूखे लोगों को भोजन कराने के लिए पांच रोटी और दो भेली गुड़ की मांग की है जिसमें सारे घरों से इतनी रोटियां और गुण आ जा रहे हैं कि पर्याप्त लोगों का आसानी से पेट भरा जा रहा है। यहां तक कि लोगों ने फोन से पूछना शुरू कर दिया है कि भैया रोटी कब मिलेगी कहे तो हम आ जाएं। रविंद्र के इस प्रयास में अजय द्विवेदी के साथ तमाम कई युवा लगे हुए हैं सबसे बड़ी खासियत यह है कि इस मोहल्ले में पद्मश्री पद्मभूषण और पद्म विभूषण से सम्मानित विश्व स्तर के कलाकारों का परिवार रहता है और हर परिवार ने इस मुहिम में अपना पूरा पूरा सहयोग देने का संकल्प लिया है लगातार कई दिनों से हर दिन रोटियां इकट्ठा हो रही हैं और भूखों का पेट भर रही है आगे भी जब तक यह संकट रहेगा यह सहयोग जारी रहेगा।