कृषि कानून के खिलाफ आजाद समाज पार्टी ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

कृषि कानून के खिलाफ आजाद समाज पार्टी ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

उरई (जालौन) सोमवार को आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष अखंड प्रताप सिंह की अगुवाई में जिलाधिकारी मन्नान अख्तर के माध्यम से राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन भेजा उन्होंने यह भी बताया है कि अगर कृषि कानून वापस नहीं लिया गया तो आंदोलन और तेज किया जाएगा सरकार द्वारा कानून किसानों के हित में होकर बल्किं व्यापारियों तथा पूंजी पतियों को लाभ पहुंचाना है इससे किसानों की आय पर भारी गिरावट आएगी यह नुकसान होगा क्योंकि प्रथम कानून के तहत सर्वप्रथम इससे कोई एमएसपी के बारे में जिक्र भी नहीं किया गया है किसानों के हित में नहीं है इसमें बताया गया है कि अब सिर्फ आपातकालीन परिस्थितियों को छोड़कर भंडारण कर सकते हैं किसानों को अपनी फसल भंडारण नहीं कर सकता एमएसपी ना होने के कारण वह मजबूर व्यापारियों को कम दामों में बेचगे जो उनकी आय की बहुत बड़ी कमजोरी हो गई तथा बता दे व्यापारियों द्वारा अधिक से अधिक दर में बेचे जाएंगे जो किसान एवं जनता के लिए बहुत ही दुखदायी है दूसरे कानून कॉन्ट्रैक्ट फॉर्मिंग मैं किसी क्षेत्र को किसी व्यापारियों के द्वारा कॉन्ट्रैक्ट पर लेकर किसानों के द्वारा की गई फसल का दाम सरकार के द्वारा नहीं बल्कि कॉन्ट्रैक्ट के द्वारा बताए गए दामों पर खरीदी जाएगी बल्कि पहले किसानों अपनी फसल को सरकार के लिए दिए गए दामों से अगर बाजारों के दाम ज्यादा है तो उसको बेच सकती है लेकिन अब सिर्फ व्यापारियों के द्वारा दिए गए दामों पर ही रह सकती है किसानों की आय पर बहुत क्षति पहुंचेयेगी/इसी को लेकर आज आजाद समाज पार्टी ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर बताया है कि पुराने कृषि कानून विधेयक 2020 में जो संशोधन किए गए हैं /उन पर विचार कर विमर्श कर निस्तारण करे और पुनः एक बार पुराने कानून को बाहर किया जाए इस मौके पर आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष अखंड प्रताप सिंह रविकांत यह डोली भीम आर्मी सोनू गुर्जर रूरा आजाद समाज पार्टी रोहित कुमार की डोली राघवेंद्र सिंह भीम आर्मी अमित चौधरी जिला सचिव नीरज कुमार प्रदीप कुमार जय हिंद आदित्य राज आशीष बौद्ध कुदरा जिला उपाध्यक्ष आदि लोग मौजूद रहे