गगनभेदी जयकारों व भक्ति भाव से निकली मां दुर्गा की शोभायात्रा

गगनभेदी जयकारों व भक्ति भाव से निकली मां दुर्गा की शोभायात्रा
नम आंखों से किया मूर्ति विसर्जन
 जगम्मनपुर (जालौन) नवरात्रि समापन के उपरांत दशहरा पर मां दुर्गा की भव्य शोभायात्रा निकाली गई , श्रद्धालुओं ने भक्ति भाव से गगनभेदी जयकारों के साथ भरे मन से मां की मूर्ति का जल विसर्जन किया।
 पंचनद क्षेत्र में यमुना पर नवरात्रि उपरांत दशहरा के अवसर पर मुर्तियां विसर्जित करने की परंपरा रही लेकिन जल प्रदूषण रोकने के उद्देश्य से सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नदियों में मूर्तियों के विसर्जन पर रोक लगाने से अब सभी मूर्तियां किसी स्वच्छ जलयुक्त सरोवर, नहर अथवा किसी जलाशय में विसर्जित की जाने लगी है। जगम्मनपुर के शिवगंज के पास विश्वनाथ घाट के नीचे नदी के किनारे प्राचीन जलाशय है, प्रतिवर्ष बाढ़ के जल से यह लबालब हो जाता है इसमें मूर्ति विसर्जन करके देवी भक्तों को यमुना में मूर्ति विसर्जन करने जैसी ही संतुष्टि हो जाती है। दशहरा के पर्व पर ग्राम जगम्मनपुर की तीन दुर्गा जी की मूर्तियां, रामपुरा नगर की चार दुर्गा जी की मूर्तियां सहित आस-पास के गांव में रखें छोटी-बड़ी कई मूर्तियों की भव्य शोभायात्रा निकाली गई तदोपरांत यमुना तट पर मौजूद प्राकृतिक जलाशय में मूर्तियों का अश्रुपूरित नेत्रों से विसर्जन किया गया । उप जिलाधिकारी माधौगढ़ शालिगराम ,क्षेत्राधिकारी शाहिदा नसरीन के नेतृत्व में प्रभारी थाना अध्यक्ष मूलचंद यादव ,
पुलिस चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक सुनील पाराशर ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए विसर्जन के लिए ले जाते समय माता रानी के दरबार को बहुत सुंदर सजाया गया गाँव मे माता रानी को शोभायात्रा निकाली गई ग्राम वासियों व युवाओं का उत्साह देखने लायक था माता रानी के दर्शन के लिए माता बहने आपने घर  दरवाजे पर इंतजार करती नजर आई कुछ माताओ बहनों ने अपने घर से समीप जाते समय माता की आरती की और प्रणाम करके आशीर्वाद लिया पूरे क्षेत्र का माहौल भक्ति मय था भक्तो ने अंतिम पड़ाव पर माता रानी की पूजा अर्चना करके माता रानी को विदाई दी जगम्मनपुर चौकी इंचार्ज की के द्वारा व्यवस्था अति उत्तम की गई ग्राम से लेकर मूर्ति विसर्जन स्थल तक पुलिस फोर्स की उत्तम व्यवस्था रही स्वयं एसडीएम, सीओ, थाना प्रभारी रामपुरा और चौकी इंचार्ज ने प्रत्येक झांकी निरीक्षण करते रहे जिससे कोई अनहोनी ना हो सके सभी श्रद्धालुओं ने शांति और सुरक्षा पूर्वक प्रशासन की देखरेख में मूर्तियों का विसर्जन किया ,
श्रद्धालुओं ने छका भंडारा
 मूर्ति विसर्जन के लिए जाने वाले व मूर्ति विसर्जन करके व क्षेत्र के प्रसिद्ध मंदिर कर्ण खेरा से आने वाले हजारों श्रद्धालु जो सुबह से पूरे दिन जुलूस में शामिल रहने के कारण शाम होते-होते भोजन की इच्छा करने लगते हैं इस आवश्यकता को समझकर ग्राम जगम्मनपुर में प्रतिवर्ष वाराही देवी मोड पर भंडारे का आयोजन करते है । मूर्ति विसर्जन को जाने वाले लोग एवं अनेक राहगीर देवी मां का प्रसाद भंडारा पाकर आनंदित होते हैं
इस भण्डारे का आयोजन समस्त ग्राम वासियो एवं जिला पंचायत सदस्य ज्योति राघेन्द्र पाण्डेय व डॉ आर के मिश्रा,कुक्कू मिश्रा ,शेषनारायण तिवारी (डुल्लन), मनोज कुमार चौरसिया,राघवेंद्र कुमार पांडे जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि,सागर सोनी,अंजू चन्देल, डॉ कैलाश गुप्ता, मिंटू प्रधान पूर्व, देवेंद्र वर्मा, पवन पोरवाल, संकल्प मिश्रा, रवि मिश्रा,पप्पन मिश्रा, उत्तम शर्मा, संदीप यादव,दीपू प्रधान जगम्मनपुर, सत्येंद्र चंदेल,रूप सिंह यादव,लल्ला हमीरपुरा,मंजू तिवारी,छाईया महाराज,दम्मू दुबे, संजय मिश्रा, गोलू बाबा, चिंटाई तिवारी, रविंद्र सिंह, अनूप दुबे, पुनीत गुप्ता,राघवेंद्र सेंगर हुसेपुरा, अमन नारायण अवस्थी, विजय याज्ञिक मेडिकल स्टोर, डॉ रवि रामपुरा, सल्ले मिश्रा, सुनील निषाद हमीपुरा प्रधान  एवं समस्त जगम्मनपुर वासियों व चौकी स्टाफ का भी सहयोग रहा पूर्ण व्यवस्था ग्राम के समस्त युवाओं ने देखी और माता रानी  की कृपा से दो वर्ष पहले की तरह इस वर्ष भी भंडरा पूर्ण रूप से सफल हुआ जगम्मनपुर ,रामपुरा ,आस पास के आये माता रानी की भक्तो ने प्रसाद ग्रहण किया शीतल जल व प्रसाद से भक्त आन्नदित हुए