गोशाला में ठंड से बचाव के इंतजाम नाकाफी, गोवंश बेहाल

गोहन (जालौन )गोशाला में सर्द हवाएं व कोहरे की धुंध गोवंश को दर्द देने लगी। कारण, गोशालाओं में सर्दी से बचाव के कोई इंतजाम नहीं हैं। कहीं खुले आसमान के नीचे ठिठुर रहीं तो कहीं टीन सेट के नीचे सर्द हवाओं से कांप रही हैं। अफसरों की अनदेखी से गोशाला में लगातार गोवंश दम तोड़ रहे हैं। यह अलग बात है कि शासन गोवंश की रक्षा व उनके भरण-पोषण को खासा ध्यान दे रही। लेकिन, जिला स्तर व ब्लाक सत्र पर अधिकारी उदासीनता बरतने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे।
विकास खंड माधौगढ़ में 18 गौशालाएं है आधे से ज्यादा गौशालाओं में अभी तक सर्दी के बचाव के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए है सर्दी का आगाज पूरी तरह से हो चुका, लेकिन गोवंश के बचाव के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए। कुछ जगहों पर टीन सेट है, लेकिन वहां सर्द हवाओं से बचाव के इंतजाम नहीं हैं। कई जगहों पर तो टीन है, लेकिन गोवंश की तादात को देख पर्याप्त नहीं है। इससे गोवंश खुले आसमान के नीचे कांपते हैं। ग्राम पडकुला की गौशाला का हाल बदहाल है गौशाला पानी वा कीचड़ से पटी हुई है गौवंस कीचड़ में ही खड़े रहने को मजबूर है जिम्मेदार मौन साधे हुए है सर्दी से राहत के लिए कोई ठोस कारगर कदम नही उठाए गए है।
माधौगढ़ विकास खंड अधिकारी रमेश चंद का कहना है टीनसेड को बढ़ाने के लिए सूचना उच्चाधिकारियों को भेजी जा चुकी है। बजट के आधार पर जल्द ही समस्या का समाधान कराया जाएगा।