जल संस्थान की लापरवाही, ग्रामीण विषाक्त पानी पीने को मजबूर

जल संस्थान की लापरवाही, ग्रामीण विषाक्त पानी पीने को मजबूर

लीकेज के कारण मुख्य सड़क क्षतिग्रस्त

 

जगम्मनपुर , जालौन । जलकल विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों के द्वारा अनदेखी से लीकेज ठीक न कराए जाने के कारण ग्रामीण गंदा, संक्रमित पानी पीने को मजबूर है ।
जलकल संस्थान इकाई रामपुरा अंतर्गत ग्राम जगम्मनपुर में पानी सप्लाई के लिए बिछाई गई भूगर्भीय पाइप लाइन जगह-जगह लीकेज होने से गांव के रास्तों सहित अंतर्जनपदीय मार्ग क्षतिग्रस्त होकर दुर्घटना का कारण बन रहा है । जगम्मनपुर से औरैया इटावा जाने वाले मुख्य मार्ग में दलित बस्ती के पूर्व तीव्र ढाल पर पानी सप्लाई की पाइप लाइन लीकेज होने से कीचड़ युक्त पानी ढाल पर बहता रहता है जिससे उतरते चढ़ते वाहन स्लिप मारकर एक दूसरे वाहनों से रगड़ जाते हैं अथवा टकरा जाते हैं जिससे झगड़ा/ विवाद की स्थिति उत्पन्न हो जाती है एवं कभी-कभी बाइक सवार स्लिप होकर गिर पड़ते हैं जिससे बड़ी दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है । इस सबसे खतरनाक स्थिति यह है कि पानी की सप्लाई बंद होने के बाद लीकेज क आसपास गड्ढों में जमा गंदा प्रदूषित जल पाइप लाइनों में वापस चला जाता है जिससे पुनः सप्लाई शुरू होने पर नलों से कीचड़ बदबूदार पानी आता है जो बड़ी बीमारियों के फैलने का कारण बनता जा रहा है । ग्राम प्रधान राहुल मिश्रा ने बताया कि इस संदर्भ में अनेक बार संबंधित अधिकारियों को अवगत कराया गया है लेकिन उचित कार्यवाही नहीं हुई है इस कारण गांव में लोग संक्रमित गंदा जल पीने को वाध्य है ।इस संदर्भ में सहायक अभियंता श्याम सुंदर से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि लीकेज होने की जानकारी हुई है जिसे शीघ्र ठीक कराए जाने की कार्यवाही की जा रही है । शीघ्र ही जगम्मनपुर के लीकेज ठीक करा दिए जाएंगे।