जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कक्ष में कोविड-19 रोकथाम संबंधी बैठक सम्पन्न हुई।

जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कक्ष में कोविड-19 रोकथाम संबंधी बैठक सम्पन्न हुई।

उरई ( जालौन) जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि नदीगांव में कराये जा रहे वैक्सीनेशन का कार्य सन्तोषजनक नही हैं। जिला पूर्ति अधिकारी स्वयं अथवा अपने अधीनस्थ को भेजकर वहां कोरोना चैम्पियन यात्रा निकलवायें। उपजिलाधिकारी कोंच कल नदीगांव जाकर देखे कि शिथिलता किस स्तर पर हो रही है तथा अथक प्रयास कर अधिक से अधिक टीकाकरण करायें। कदौरा में 23 गांव ऐसे है जहां पर टीकाकरण अभी तक शुरू नही हुआ हैं। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी इन गांवों में नयी चिकित्सा टीमों का गठन कर भेजे तथा निगरानी समितियों तथा प्रधानों/कोटेदारों का सहयोग लेकर अधिक से अधिक टीकाकरण अभियान चलाकर कराया जाये। लाकडाउन में छूट मिल जाने के कारण आम जनमानस कोरोना बचाव के उपायों के प्रति उदासीन हो गये है तथा बिना मास्क के घर से बाहर निकल रहे हैं। सख्ती के साथ कोविड-19 के बचाव के नियमों का पालन कराया जाये। जनपद के समस्त उपजिलाधिकारी अवैध कब्जों को चिन्हित करे तथा उसकी सूची अविलम्ब उपलब्ध कराये। समस्त खण्ड विकास अधिकारी, उपजिलाधिकारी एवं अधिशाषी अधिकारी अधिक से अधिक वृक्षारोपण कराये तथा आम जनमानस को वृक्षारोपण हेतु जागरूक/प्रेरित करे। जनपद में 04 पाॅजिटिव केस मिले तथा निगरानी समितियों को 02 लोग लक्षण युक्त मिले हैं। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा जिला अस्पताल परिसर में 30 बेड के हाल निर्माण हेतु चिन्हित भूमि की कार्ययोजना बनाकर अविलम्ब प्रस्तुत करें। जनपद में कुल 104 केस एक्टिव हैं। राजकीय मेडिकल कालेज में कुल 31 मरीज भर्ती है, 20 मरीज आक्सीजन वार्ड में, 11 मरीज आई0सी0यू0 वार्ड में, 06 नये मरीज भर्ती हुये तथा 05 मरीज को छुट्टी दे दी गयी हैं।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 ऊषा सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सत्यप्रकाश, नगर मजिस्ट्रेट/जिला सूचना अधिकारी सुनील कुमार शुक्ला, ई0डी0एम0 पुष्पेन्द्र सिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।