जिला पंचायत सदस्य राघेन्द पाण्डेय के द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचाए जा रहे खाने के पैकेट एवं खाने की सामिग्री

जिला पंचायत सदस्य राघेन्द पाण्डेय के द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचाए जा रहे खाने के पैकेट एवं खाने की सामिग्री

बाढ़ पीड़ितों के लिए संकट मोचन साबित हो रहे राघवेंद्र

ग्रामीणों ने कहा पिछले 70 सालों में नहीं देखी ऐसी तबाही


जगम्मनपुर (जालौन) बाढ़ से उत्पन्न संकट में यमुना तटवर्ती प्रभावित इलाके के लोगों के लिए राघवेंद्र पांडे जिला पंचायत सदस्य संकट मोचन साबित हो रहे हैं बसाप युवा नेता राघेन्द्र पाण्डेय के द्वारा जगम्मनपुर के आस-पास के क्षेत्र में बाढ़ के हालात काफी बेकार हो गए थे क्योंकि मध्य प्रदेश और राजस्थान में लगातार हो रही बारिश और इन‌ राज्यों में बांध से छोड़ा जाने वाला पानी की वजह से पंचनदा धाम पर बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। पंचनद क्षेत्र के यमुना पट्टी के ग्राम कन्जौसा, मढेपुरा, शिवगंज, हिम्मतपुर ,महमूदपुर पुरवा, गुढ़ा, बेरा, महटोली रुदावली, चंदावली, पतराही आदि गांव बाढ़ से प्रभावित हैं जिसमें सर्वाधिक प्रभावित गांव महटोली गुढ़ा, वेरा, कंजौसा चारों ओर पानी से घिरे होने के कारण सड़क मार्ग से इनका संपर्क टूट जाने से इन गांवों में खाने पीने के सामान की समस्या उत्पन्न हो गई है l

उत्तर प्रदेश में पंचनदा धाम के आस पास के लगभग सभी गांव जलमग्न हो गए हैं. वहीं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी हैं. इसके अलावा बाढ़ के कारण भुखमरी के हालात हो गए इस विषम स्थिति में बाढ़ पीड़ितों की मदद को अनेक समाजसेवी आगे आ रहे हैं

तो वहीं आज जिला पंचायत सदस्य राघवेंद्र पांडे जगम्मनपुर बाढ़ पीड़ित गांव पहुंचकर जरूरतमंदों को सूखा राशन उपलब्ध करवाकर स्थानीय स्तर पर भोजन पकवाकर श्रद्धा पूर्वक खिला रहे हैं एवं जिन लोगों के घर बाढ़ के कारण तबाह हुए हैं उन्हें प्लास्टिक के त्रिपाल वितरित कर अस्थाई टैंट बनाकर रहने में मदद कर रहे हैं l आज ग्राम महटौली एवं पुरा में राघवेंद्र पांडे द्वारा भंडारा किया गया l अपने संसाधनों से खाद्य सामग्री लेकर महटौली पहुंचे राघवेंद्र ने ग्रामीणों की मदद से गांव में ही भोजन पकवा कर खेतों में जहां यमुना नदी की बाढ़ का जल नहीं पहुंच पाया है वहां ग्राम वासियों को बैठा कर भोजन कराया एवं बच्चों को बिस्कुट फल वितरित किए तथा जरूरतमंदों को प्लास्टिक तिरपाल देकर मदद की , इस अवसर पर राघवेंद्र पांडे ने कहा कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र एवं उसके आसपास किसी भी ग्रामीण हो भूख प्यास से पीडित ना होने देने का यथासंभव प्रयत्न करेंगे l ग्रामीणों के अनुसार जिला पंचायत सदस्य राघवेंद्र पांडे विपदा की घड़ी के बीच संकटमोचन साबित हो रहे हैं l उहोंने भरोसा दिलाया अपने समर्थ अनुसार लोगों कि हरसंभव मदद की जाएगी

इस तबाही से लगभग कई हज़ार से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं, और काफी कच्चे मकान गिर गए हैं.

इन गांवों में बाढ़ के हालात देखकर ग्रामीणों ने कहा है कि बाढ़ से पंचनदा धाम के आसपास के कई क्षेत्रों में भयानक तबाही हुई है. पिछले दशकों में ऐसी स्थिति नहीं देखी ।