टैक्टर ट्रॉली से ढोये जा रहे है मजदूर हादसों को दे रहे है दावत

ईंटो (जालौन)- कई हादसों के बाद भी लोग सबक नही ले रहे है मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ आदेशों को भी लोग अनसुना कर रहे है दिन भर गोहन कस्बा से आधा सैकड़ा से अधिक टैक्टर ट्रॉली व लोडर मजदूरों को भर फर्राटा भरते रहते है न इस पर सवार मजदूरों को खौफ रहता न ही चालक को रफ्तार की चिंता रहती है जिससे कभी भी किसी दिन बडा हादसा हो सकता है
ट्रैक्टर-ट्राली का उपयोग कृषि कार्य अथवा सामान ढोने के लिए किया जाता है। लोगों ने इसका प्रयोग मजदूरों को ढोने में शुरू कर दिया। शासन व प्रशासन की ढील से हौसले बुलंद हैं। कई हादसों ने लोगों को झकझोरा, इसके बाद भी लोगो में जागरूकता नहीं आई। बड़ते हादसो को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से मार्मिक अपील कर सभी को शख्त निर्देश दिए गए थे कि ट्रैक्टर ट्राली व लोडर का प्रयोग सिर्फ कृषि कार्यों और माल ढुलाई के लिए ही करें। इससे मजदूरों व सवारियों की ढुलाई न करें। इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री की अपील का असर दिखाई नही दे रहे है इसके साथ एक टैक्टर ट्राली में 70 से 80 मजदूर भुस की तरह ठूस ठूस कर भरे जाते है और छोटे छोटे लड़के तथा लडकिया ट्राली व लोडर की वोनट पर बैठकर जाते है जरा सा भी झटका लगने पर गिरने का डर बना रहता है लेकिन फिर भी लोग जान को जोखिम में डालकर टैक्टर ट्राली, व लोडर पर बैठने में गुरेज नहीं करते है यदि जल्द ही इस पर प्रशाशन ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है माधौगढ़ क्षेत्राधिकारी शैलेंद्र सिंह बाजपेई का कहना है कि अधिनस्थों को निर्देशित कर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी!