दैनिक राशि फल 20 जून 2020

आचार्य पंडित पुष्पेंद्र कुमार द्विवेदी
ज्योतिष कर्मकांड एवं वास्तु विशेषज्ञ

संपर्क सूत्र 9260981854
7800868289
ईमेल आईडी
[email protected]

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 20 जून 2020*
⛅ *दिन – शनिवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)*
⛅ *शक संवत – 1942*
⛅ *अयन – दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु – वर्षा*
⛅ *मास – आषाढ़ (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार ज्येष्ठ)*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – चतुर्दशी दोपहर 11:52 तक तत्पश्चात अमावस्या*
⛅ *नक्षत्र – रोहिणी दोपहर 12:02 तक तत्पश्चात मृगशिरा*
⛅ *योग – शूल दोपहर 02:32 तक तत्पश्चात गण्ड*
⛅ *राहुकाल – सुबह 09:07 से सुबह 10:48 तक*
⛅ *सूर्योदय – 05:58*
⛅ *सूर्यास्त – 19:21*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण – दर्श अमावस्या, दक्षिणायन आरंभ (पुण्यकाल सूर्योदय से सूर्यास्त), वर्षा ऋतु प्रारंभ*
💥 *विशेष – चतुर्दशी और अमावस्या के दिन ब्रह्मचर्य पालन करें तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण मंत्र* 🌷
➡ *21 जून 2020 रविवार को कंकणाकृति सूर्यग्रहण (सुरत में ग्रहण-समय सुबह 10:01 से दोपहर 01:33 तक) (भारत में दिखेगा, नियम पालनीय*
🌔 *जब भी सूर्य ग्रहण हो तो एक माला इस मंत्र की करें :-*
🌞 *मंत्र – ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम: |…. ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम:| …. ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम:*
👉🏻 *और चंद्र ग्रहण हो तो एक माला नीचे मंत्र की करें :-*
🌙 *मंत्र – ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम: | …. ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम: | …. ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *ग्रहण दर्शन ना करें* 🌷
🌗 *कोई-कोई TV Channel वाले नादान होते हैं.. ग्रहण का दृश्य लाईव दिखाते हैं .. ये नहीं देखना चाहिए और ग्रहण की छाया भी हम पर न पड़े इसका ध्यान रखना चाहिए*
🌞 ~ *हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

🌷 *ग्रहण के समय उसके देवता का मंत्र जप* 🌷
🌔 *ग्रहण का समय हो तो उस समय ग्रहण के देव का नाम जप करने से उस ग्रह का माने सूर्य या चन्द्र का विशेष आशीवार्द प्राप्त होते हैं चन्द्र ग्रहण में चन्द्र देव का मंत्र …*
🌷 *ॐ सोमाय नमः*
🌷 *ॐ रोहिणी कान्ताय नमः*
🌷 *ॐ चन्द्रमसे नमः*
👉🏻 *फिर चन्द्र देव की स्तुति का श्लोक*
🌷 *”दधीशंख: तुषाराभम् क्षीरोरदार्णव संनिभम्, नमामि शशिनं सोमं शम्भोर्मुकुटभूषणम्”*
👉🏻 *फिर चन्द्र गायत्री मंत्र बोलें …*
🌷 *” ॐ अमृतान्गाय विदमहे कलारुपाय धीमहि तन सोमः प्रचोदयात “*
➡ *और अगर सूर्य ग्रहण हो तो सूर्य गायत्री मंत्र है*
🌷 *” ॐ आदित्याय विदमहे भास्कराय धीमहि तन भानु प्रचोदयात “*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *फूल – पत्ते कब नहीं तोड़ने चाहिए* 🌷
🌔 *१२ बजे के बाद फूल, पत्ते, तुलसी तोड़नी नहीं चाहिए ग्रहण के समय भी फूल-पत्ते नहीं तोड़े इतवार को तुलसी के पत्ते खाना नहीं …तोड़ना नहीं*
*~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *ग्रहण में क्या करें, क्या न करें* 🌷
🌘 *चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण के समय संयम रखकर जप-ध्यान करने से कई गुना फल होता है। श्रेष्ठ साधक उस समय उपवासपूर्वक ब्राह्मी घृत का स्पर्श करके ‘ॐ नमो नारायणाय’ मंत्र का आठ हजार जप करने के पश्चात ग्रहणशुद्धि होने पर उस घृत को पी ले। ऐसा करने से वह मेधा (धारणशक्ति), कवित्वशक्ति तथा वाक् सिद्धि प्राप्त कर लेता है।*
🌘 *सूर्यग्रहण या चन्द्रग्रहण के समय भोजन करने वाला मनुष्य जितने अन्न के दाने खाता है, उतने वर्षों तक ‘अरुन्तुद’ नरक में वास करता है।*
🌘 *सूर्यग्रहण में ग्रहण चार प्रहर (12 घंटे) पूर्व और चन्द्र ग्रहण में तीन प्रहर (9) घंटे पूर्व भोजन नहीं करना चाहिए। बूढ़े, बालक और रोगी डेढ़ प्रहर (साढ़े चार घंटे) पूर्व तक खा सकते हैं।*
🌘 *ग्रहण-वेध के पहले जिन पदार्थों में कुश या तुलसी की पत्तियाँ डाल दी जाती हैं, वे पदार्थ दूषित नहीं होते। पके हुए अन्न का त्याग करके उसे गाय, कुत्ते को डालकर नया भोजन बनाना चाहिए।*
🌘 *ग्रहण वेध के प्रारम्भ में तिल या कुश मिश्रित जल का उपयोग भी अत्यावश्यक परिस्थिति में ही करना चाहिए और ग्रहण शुरू होने से अंत तक अन्न या जल नहीं लेना चाहिए।*
🌘 *ग्रहण के स्पर्श के समय स्नान, मध्य के समय होम, देव-पूजन और श्राद्ध तथा अंत में सचैल (वस्त्रसहित) स्नान करना चाहिए। स्त्रियाँ सिर धोये बिना भी स्नान कर सकती हैं।*
🌘 *ग्रहण पूरा होने पर सूर्य या चन्द्र, जिसका ग्रहण हो उसका शुद्ध बिम्ब देखकर भोजन करना चाहिए।*
🌘 *ग्रहणकाल में स्पर्श किये हुए वस्त्र आदि की शुद्धि हेतु बाद में उसे धो देना चाहिए तथा स्वयं भी वस्त्रसहित स्नान करना चाहिए।*
🌘 *ग्रहण के स्नान में कोई मंत्र नहीं बोलना चाहिए। ग्रहण के स्नान में गरम जल की अपेक्षा ठंडा जल, ठंडे जल में भी दूसरे के हाथ से निकाले हुए जल की अपेक्षा अपने हाथ से निकाला हुआ, निकाले हुए की अपेक्षा जमीन में भरा हुआ, भरे हुए की अपेक्षा बहता हुआ, (साधारण) बहते हुए की अपेक्षा सरोवर का, सरोवर की अपेक्षा नदी का, अन्य नदियों की अपेक्षा गंगा का और गंगा की अपेक्षा भी समुद्र का जल पवित्र माना जाता है।*
🌘 *ग्रहण के समय गायों को घास, पक्षियों को अन्न, जरूरतमंदों को वस्त्रदान से अनेक गुना पुण्य प्राप्त होता है।*
🌘 *ग्रहण के दिन पत्ते, तिनके, लकड़ी और फूल नहीं तोड़ने चाहिए। बाल तथा वस्त्र नहीं निचोड़ने चाहिए व दंतधावन नहीं करना चाहिए। ग्रहण के समय ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र का त्याग, और भोजन – ये सब कार्य वर्जित हैं।*
🌘 *ग्रहण के समय कोई भी शुभ व नया कार्य शुरू नहीं करना चाहिए।*
🌘 *ग्रहण के समय सोने से रोगी, लघुशंका करने से दरिद्र, मल त्यागने से कीड़ा, स्त्री प्रसंग करने से सुअर और उबटन लगाने से व्यक्ति कोढ़ी होता है। गर्भवती महिला को ग्रहण के समय विशेष सावधान रहना चाहिए।*
🌘 *तीन दिन या एक दिन उपवास करके स्नान दानादि का ग्रहण में महाफल है, किन्तु संतानयुक्त गृहस्थ को ग्रहण और संक्रान्ति के दिन उपवास नहीं करना चाहिए।*
🌘 *भगवान वेदव्यासजी ने परम हितकारी वचन कहे हैं- ‘सामान्य दिन से चन्द्रग्रहण में किया गया पुण्यकर्म (जप, ध्यान, दान आदि) एक लाख गुना और सूर्यग्रहण में दस लाख गुना फलदायी होता है। यदि गंगाजल पास में हो तो चन्द्रग्रहण में एक करोड़ गुना और सूर्यग्रहण में दस करोड़ गुना फलदायी होता है।’*
🌘 *ग्रहण के समय गुरुमंत्र, इष्टमंत्र अथवा भगवन्नाम-जप अवश्य करें, न करने से मंत्र को मलिनता प्राप्त होती है।*
🌘 *ग्रहण के अवसर पर दूसरे का अन्न खाने से बारह वर्षों का एकत्र किया हुआ सब पुण्य नष्ट हो जाता है। (स्कन्द पुराण)*
🌘 *भूकंप एवं ग्रहण के अवसर पर पृथ्वी को खोदना नहीं चाहिए।(देवी भागवत)*
🌘 *अस्त के समय सूर्य और चन्द्रमा को रोगभय के कारण नहीं देखना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्णजन्म खं. 75.24)*
💐🙏🏻
🌞 *~* *पंचक*
*10 जून मध्यरात्रि बाद 3.40. से*
*15 जून मध्यरात्रि बाद 3.18 बजे तक!*

*एकादशी:*
*जून 2, मंगलवार, निर्जला एकादशी, ज्येष्ठा, शुक्ला एकादशी*
*शुरू – 14:57, जून 01.*
*खत्म – 12:04, जून 02.*

*प्रदोष व्रत जून 3, 2020, बुधवार,*
*ज्येष्ठ, शुक्ल त्रयोदशी*
*आरंभ- 09:05 AM, जून 03 और समाप्ति- 06:06 AM, जून 04.*

*प्रदोष व्रत जून 18, 2020, गुरुवार*
*आषाढ़, कृष्ण त्रयोदशी*
*आरंभ- 09:39 AM, जून 18 और समाप्ति- 11:01 AM, जून 19.*

*अमावस्या:*
*21 जून 2020 रविवार, को आषाढ़ अमावस्या पड़ रही है। यह अमावस्या 20 जून सुबह 11 बजकर 52 मिनट से आरंभ होकर अगले दिन 21 जून सुबह 12 बजकर 10 मिनट पर समाप्त होगी।*

*पूर्णमासी:*
*5. जून 3:15 AM से*
*6. जून 12:42 AM तक*
*(व्रत पूर्णमासी, 5. जून 2020.)*

मेष- आज के दिन अपने मन को सकारात्मकता की ओर बढ़ाना होगा वहीं धार्मिक कार्यों में मन लगाना लाभकारी रहेगा, जिससे आप प्रसन्नता का अनुभव करेंगें. बैंक के कार्यों के लिए दिन उपयुक्त है छोटे निवेश करना उचित रहेगा. ऑफिस के कार्यों में यदि मन न लगें तो भगवत् भजन में ही दिन व्यतीत करना चाहिए. व्यापारियों की बात करें तो आज अपने मुनाफे का कुछ हिस्सा दान में देना पुण्यों की बढ़ोत्तरी कराएगा. हेल्थ में आज आँख व सिर में दर्द को लेकर परेशान होना पड़ सकता है इसका एकमात्र उपाय तनाव से दूर रहना. संतान का स्वास्थ्य कुछ नरम हो सकता है, उसके साथ समय व्यतीत करें.

वृष- आज के दिन आपको चीजों को संचित करने की प्रवृत्ति बना कर रखनी होगी जैसे- विचार ज्ञान यानि कुछ अच्छी किताबें पढ़ें और उनसे ज्ञान व अच्छे विचारों को एकत्रित करें. वहींं आलस्य करने से बचना होगा. टीम वर्क के साथ कार्य में सरलता एवं सहजता का अनुभव होगा. पार्टनरशिप में कार्य कर रहें लोगों को पार्टनर के साथ किन्हीं बातों को लेकर अन-बन हो सकती है. सेहत में आज गुणवत्तयुक्त भोजन को महत्व दें इसके हरी सब्जियां फल, ड्राई-फ्रूट जैसी चीजों का सेवन करना उत्तम रहेगा. घर मे कोई टूट-फूट, रिपेयरिंग करवाना चाहते हैं तो वर्तमान समय में रुक जाना ही बेहतर होगा.

मिथुन- आज के दिन बिना बात के मन थोड़ा उदास रहेगा लेकिन अपने आप को खुश रखें यही आपकी पहली प्रयॉरटी होनी चाहिए. कैरियर में जो लोग रिसर्च कार्य में लगें हैं उनको अपने कार्य के प्रति अलर्ट रहना होगा, छोटी सी लगती पुनः मेहनत कराने वाली होगी. बिजनेस की बात करें तो जो लोग थोक का व्यापार करते हैं उन्हे उधार में सौदा देने से बचना चाहिए, आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ सकता है. पीठ का ध्यान रखना होगा यदि कई घंटों तक झुककर कार्य करते हैं तो अधिक सचेत रहें. पैतृक स्थान से जुड़ाव रखना होगा, वहां की यात्रा भी हो सकती है.

कर्क- आज के दिन आपकी मानसिक स्थिति अच्छी रहेगी. जिससे ऑफिस में आपका कार्य करने में मन लगेगा और उसमें सफलता भी प्राप्त होगी. वहीं कार्यों को कल के लिए न टालें. शोधपरक कार्य को महत्व देना चाहिए. ट्रांसपोर्ट का व्यापार करने वालों के लिए दिन तनावपूर्ण हो सकता है. सेहत की बात करें तो आप कहीं बाहर खाना–खाने जा रहें हैं तो समय की मांग को देखते हुए बाहर का भोजन खाने से बचें. क्योंकि अंतरिक्ष में प्रतिरोधक क्षमता कमजोर चल रही है. जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान दें उनकी अचानक तबियत बिगड़ सकती है, पारिवारिक विवाद सुलझेंगे, जिससे आप प्रसन्नता का अनुभव करेंगे.

सिंह- आज के दिन अपने कार्य में प्लानिंग करनी होगी. याद रखें, हमेशा बल से काम नही होगा, दिमाग भी लगाना पड़ेगा. किससे कैसे बात करनी है ये सब मिश्रित तरह से कैलकुलेट करके चलना है. ऑफिस में कुछ कठोर निर्णय भी लेने पड़ सकते है .वहीं दूसरी ओर सबअर्ङिनेट नियम से काम नहीं कर रहें हैं तो थोड़ी डांट लगा सकते हैं, यानि अनुशासन मेंटेन करके रखना होगा. जो व्यापारी खाने-पीने से संबंधित या जर्नल स्टोर का व्यापार करते हैं, उनके लिए दिन अच्छा रहने वाला है. स्वास्थ्य में गिरावट हो सकती है खासकर हृदय रोगी अलर्ट रहें. क्रेडिट कार्ड से बेवजह की शॉपिंग करने से बचना चाहिए.

कन्या- आज के दिन आपको कुछ ऐसी सूचना मिल सकती है जिसकी आपको संभावना न हो जिसमें सकारात्मक व नकारात्मक दोनों बातें हो सकती हैं. ऑफिशियल स्थिति की बात करें तो जिनका प्रोमोशन ड्यू था उनको प्रोमोशन के साथ-साथ स्नानंतरण भी मिल सकता है. वर्तमान समय में की गयी पार्टनरशिप अच्छे परिणाम नहीं लेकर आएगी. हेल्थ में कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग परेशानी का कारण बन सकते हैं, खान-पान पर ध्यान दें. अगर आप अपना मकान या दुकान किसी को किराये पर देने की सोच रहें है तो पूरे लिखा पढ़ी के ही साथ दें अन्यथा लेने के देने पड़ सकते हैं.

तुला- आज के दिन सत्कर्म के कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें, इससे सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी क्योंकि यह कर्मक्षेत्र के लिए अतिमहत्वपूर्ण है. आज ऑफिस में सतर्क रहते हुए अपने कार्य को करते रहें. सहकर्मियों पर भी अधिक भरोसा करने से बचना होगा किन्हीं कारणों के चलते आपको चोट पहुंचा सकते हैं. बिजनेस से जुड़े लोगों को आय से अधिक व्यय होने की आशंका है इसलिए बेवजह के खर्चों की लिस्ट को कम करना चाहिए. स्वास्थ्य की दृष्टि से थाईराइड के रोगियों को अलर्ट रहना होगा खासकर जिनको मोटापा से संबंधित परेशानियां रहती हैं. घर खरीदना व बेचना चाहते हैं तो उस दृष्टि से समय बहुत अनुकूल नहीं है.

वृश्चिक- आज के दिन आपको आय प्राप्ति से सम्बन्धित समस्याएं रह सकती है, वहीं दूसरी ओर अनावश्यक एवं आकस्मिक खर्चें भी आपको परेशान करने वाले होंगे. ऑफिस में कार्य को नियमबद्ध तरीके से करें साथ ही अगर आप ऑफिस प्रायः लेट पहुंचते है तो टाईम पर जाएं नहीं तो नियमों के उल्लंघन करने से बॉस नाराज हो सकते हैं. व्यापारियों के लिए दिन अच्छा है ग्राहकों कि आवाजाही लगी रहेगी वर्तमान समय को देखते हुए ग्राहकों कि डिमांड को पूरा करें. बीमारी के चलते यदि डॉक्टर ने कोई परहेज बता रखा है तो उसका गंभीरता से पालन करें. पुराने कर्ज आपके तनाव का कारण बन सकते हैं.

धनु- आज के दिन कार्य बहुत अधिक रहेंगे जिसके चलते मानसिक तनाव भी हो सकता है. वहीं बेवजह का शंका दिमाग में न पालें. ऑफिशियल स्थिति की बात करें तो आज आपके अधिनस्थ या सहकर्मी से आपका तालमेल नहीं बन पाएगा जिस वजह से आपको क्रोध भी आ सकता है. व्यापारियों को बड़े निवेश करने से पहले सोच विचार कर लेना चाहिए कहीं ऐसा न हो वर्तमान का लाभ भविष्य में उल्टा पड़ जाए. सेहत में जिन लोगों का हाल-ही में ऑपरेशन हुआ हैं खासकर पेट से संबंधित वह अधिक सचेत रहें, इंफेक्शन होने की आशंका है. धारदार चीजों से बचकर रहें, अन्यथा हाथ में चोट लग सकती है.

मकर- आज के दिन अन्य कार्यों के साथ भजन कीर्तन भी करना चाहिए. हो सके तो आज किसी गरीब को अनाज दान करना चाहिए. नौकरी की बात करें तो कार्य को लेकर भागा दौड़ी करनी पड़ेगी. सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्य कर रहें लोगों को नए प्रोजेक्ट पर काम करने का मौका मिलेगा. फुटकर व्यापारियों के लिए दिन शुभ है. बड़े मुनाफे हाथ लग सकते हैं. स्वास्थ्य की ओर देखें तो आज कब्ज से संबंधित दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. माता के साथ आज समय व्यतीत करना होगा. यदि लंबी दूरी की यात्रा पर जा रहे हैं, तो सचेत रहें दुर्घटना होने की आशंका है.

कुम्भ- आज के दिन मानसिक तनाव कुछ बढ़ता हुआ नजर आएगा. इसलिए आपको अधिक धैर्य बनाएं रखने की आवश्यकता है. ऑफिशियल कार्यों में यदि सफलता नहीं मिल रहीं है तो कार्य करने के तरीके में बदलाव लाना चाहिए. व्यापारियों के लिए उनका नेटवर्क ही उनकी ताकत है इसको बनाए रखने के लिए निरंतर प्रयास करने होंगे. प्रचार-प्रसार का सहारा भी ले सकते हैं. सेहत में अचानक सिरदर्द जैसी समस्या को लेकर परेशान होना पड़ सकता है. छोटे भाई -बहनों की संगत पर ध्यान दें, वहीं दूसरी ओर उनकी ओर से कुछ नकारात्मक सूचना मिल सकती हैं. अपनों के साथ पैसों की लेन-देन को लेकर विवाद हो सकता है.

मीन- आज के दिन सकारात्मक रहना होगा वहीं दूसरी ओर आपका आत्मबल भी मजबूत रहेगा. ऑफिस में कोई भी कड़ी चुनौती मिले उसको बहुत उत्साह के साथ लेना चाहिए, आत्मबल के साथ उसको पूर्ण करें आपको निश्चित रूप से सफलता मिलेगी. कारोबार यदि घाटे में चल रहा है तो उसे बंद करने का कोई बड़ा फैसला न लें, भविष्य में स्थितियाँ ठीक होती दिख रही हैं. विद्यार्थी वर्ग अपने याद करने वाले विषयों पर ध्यान दें. उत्तम स्वास्थ्य के लिए किसी गरीब महिला को चावल का दान करें. पिता व पिता तुल्य के साथ वैचारिक मतभेदों से दूर रहना चाहिए. वहीं घरेलू कलह से भी दूरी बनाए रखें.

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख-दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है।

आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं।

शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29

शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92

शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036

ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव

शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे

कैसा रहेगा यह वर्ष
लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी।