दैनिक राशि फल 27 जून

आचार्य पंडित पुष्पेंद्र कुमार द्विवेदी
ज्योतिष कर्मकांड एवं वास्तु विशेषज्ञ
संपर्क सूत्र 9260981854
. 7800868289

हिन्दू पंचांग
दिनांक 27 जून 2020
दिन – शनिवार
विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)
शक संवत – 1942
अयन – दक्षिणायन
ऋतु – वर्षा
मास – आषाढ़
पक्ष – शुक्ल
तिथि – सप्तमी 28 जून रात्रि 02:53 तक तत्पश्चात अष्टमी
नक्षत्र – पूर्वाफाल्गुनी सुबह 10:11 तक तत्पश्चात उत्तराफाल्गुनी
योग – व्यतिपात रात्रि 11:08 तक तत्पश्चात वरीयान्
राहुकाल – सुबह 09:09 से सुबह 10:49 तक
सूर्योदय – 06:00
सूर्यास्त – 19:22
दिशाशूल – पूर्व दिशा में

व्रत पर्व विवरण –
विशेष – सप्तमी को ताड़ का फल खाने से रोग बढ़ता है था शरीर का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
हिन्दू पंचांग:- तुलसी को मंगलवार शनिवार और रविवार को नही तोड़ना चाइये।

मंदी के दौर में व्यापार अगर सही नहीं चल रहा है तो तुलसी के पत्तों को तीन दिन तक पानी में रख दें। फिर पानी को फैक्ट्री, कारखाने या फिर दुकान के दरवाजे पर छिड़क दें। ऐसा करने से व्यापार में चल रही मंदी दूर होगी। साथ ही यह ऊर्जा चोरों को भी दूर रखती है।

तुलसी मंगल ग्रह के साथ जुड़ी हुई है। इसलिए आप अपने पर्स या फिर अलमारी में तुलसी का एक पत्ता रख लें। यह पैसे को अपनी ओर आकर्षित करता है। साथ ही आप जहां पैसों का लेखा-जोखा लिखते हों, वहां तुलसी का पत्ता रख दें। ऐसा करने से आपके पास कभी धन-धान्य की कमी नहीं होगी।

परिवार में शांति बनी रहे और सदस्यों के बीच प्रेम भाव बना रहे इसके लिए आप रसोई घर में कुछ तुलसी के पत्ते रख दें। ऐसा करने से ना घर में सुख-शांति रहती है बल्कि स्वास्थ्य भी सही रहता है। साथ ही हर रोज नहाने के पानी में तुलसी का पत्तों को जरूर मिश्रित करके स्नान करें। इससे घर के सदस्यों के बीच प्रेम भाव बना रहेगा।

अगर मंदी की वजह से नौकरी जाने का डर लग रहा है या फिर प्रमोशन नहीं हो रहा है तो गुरुवार को तुलसी के पौधे को पीले कपड़े में बांधकर अपने कार्यस्थल पर रख दें। साथ ही सोमवार के दिन सुबह-सुबह सफेद कपड़े में तुलसी के 16 बीजों को ऑफिस की मिट्टी में दबा दें।

ऐसा करने से आपकी नौकरी का डर दूर हो जाएगी, साथ ही प्रमोशन भी हो सकता है।

ऊपरी बाधा या फिर नजर दोष से बच्चा या फिर घर का कोई सदस्य परेशान है तो सात तुलसी के पत्ते और सात काली मिर्च अपनी मुट्ठी में ले लें। फिर व्यक्ति के 21 बार ऊपर से नीच तक वार लें और ओम नमो भगवते वासुदेवाय नम: मंत्र बोलें।

इसके बाद काली मिर्च चबाने को दे दें और तुलसी के पत्ते निगलने। फिर व्यक्ति को उलटा करके पांव के तलवों को किसी कपड़े से 7 या 11 बार झाड़ लगा दें, ऐसा करने से सभी कष्ट दूर हो जाएंगे।

जिनको डर खूब लगता हो
जिनको डर खूब लगता हो उनको सुबह धूप करके… गहरा श्वास लेकर हरि ॐ…ॐ…ॐ…ॐ…ॐ….ॐ….ॐ….ओंकार का गुंजन करना चाहिए… बोलकर। निर्भय नाद पुस्तक पढ़नी चाहिए। डर निकल जाएगा भयभीत आदमी किसी काम में सफल नहीं होता …हरि ॐ…ॐ ॐ… ॐ… ॐ..*
हिन्दू पंचांग

जुकाम
बार-बार सर्दी, जुकाम, खाँसी होती हो तो मूँग व मूली का सूप बना के काली मिर्च, सेंधा नमक एवं अजवाईन मिलाकर पियें।

हिन्दू पंचांग
स्वास्थ्य व सत्त्व वर्धक – बिल्वपत्र
बिल्वपत्र ( बेल के पत्ते ) उत्तम वायुशामक, कफ – निस्सारक व जठराग्निवर्धक हैं | ये कृमि व शरीर की दुर्गध का नाश करते हैं।

बिल्वपत्र ज्वरनाशक, वेदनाहर, संग्राही ( मल को बाँधकर लानेवाले ) व सूजन उतारनेवाले हैं। ये मूत्रगत शर्करा को कम करते हैं, अत: मधुमेह में लाभदायी हैं। बिल्वपत्र ह्रदय व मस्तिष्क को बल प्रदान करते हैं। शरीर को पुष्ट व सुडौल बनाते हैं। इनके सेवन से मन में सात्त्विकता आती है।

औषधीय प्रयोग
मधुमेह ( डायबीटीज ) : बिल्वपत्र के १० – १५ मि. ली. रस में १ चुटकी गिलोय का सत्त्व एवं १ चम्मच आँवले का चूर्ण मिला के लें।

धातुक्षीणता : बेलपत्र के ३ ग्राम चूर्ण में थोडा शहद मिला के सुबह – शाम लेने से धातु पुष्ट होती है।

पंचक 8 जुलाई
दोपहर 12.31 से 13 जुलाई प्रातः 11.15 बजे तक
4 अगस्त
रात्रि 8.47 से 9 अगस्त सायं 7.05 बजे तक

एकादशी
बुधवार, 01 जुलाई देवशयनी एकादशी
गुरुवार, 16 जुलाई कामिका एकादशी
गुरुवार, 30 जुलाई श्रावण पुत्रदा एकादशी

प्रदोष
गुरुवार, 02 जुलै प्रदोष व्रत (शुक्ल)
शनिवार, 18 जुलै शनि प्रदोष व्रत (कृष्ण)

अमावस्या
20 जुलाई 2020 – सोमवार – श्रावण अमावस्या (हरियाली, सोमवती अमावस्या)

पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा तिथि- 5 जुलाई- दिन रविवार

मेष:-
आज आपमें ऊर्जा की थोड़ी कमी महसूस हो सकती है। लम्बे समय से चली आ रही परिस्थितियों में परिवर्तन आएगा जिस कारण मन में उदासी सी महसूस हो सकती है। परिवर्तन ही जीवन का नियम है, अच्छा या बुरा कुछ भी स्थायी नहीं है। लोगों और वस्तुओं से अपने आप को वियुक्त करें। आज का दिन अपने इष्ट देव को याद करें और उनकी अर्चना अवश्य करें।

वृषभ –
आज थोड़ा समय अपने लिए अवश्य निकालें और अपने आने वाले जीवन की राह और लक्ष्य का निर्धारण करें। दैवीय कृपा से आपको बहुत कुछ मिला है, अपने कौशल से दूसरों का मार्गदर्शन करें, दूसरों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने की आप क्षमता रखते हैं, अपने इस उत्तरदायित्व को निभाएं। जब तक इससे दूर भागते रहेंगे तब तक जीवन में असंतोष की भावना बनी रहेगी।

मिथुन –
आज के दिन आपके लिए परिस्थिति चाहे जितनी भी प्रतिकूल हो, आपकी मेहनत और विश्वास से आप उसमे भी छिपे अपने लाभ को पहचान सकते हैं। आपके चारों ओर की सकारात्मक ऊर्जा और सहयोग के माहौल को पहचानें, आपको बहुत से सुन्दर अवसर मिल रहे हैं जीवन में उन्नति के लिए, उन्हें जाने न दें। अपनी योग्यता पर भरोसा रखें और अपने लिए काम करें। अपने अस्तित्व की पहचान बनाएं।

कर्क –
आज आपमें रचनात्मक ऊर्जा की अधिकता रहेगी। इसे उचित दिशा में अवश्य लगाएं। आज किसी भी प्रकार का रचनात्मक कार्य करें जो आपको पसंद हो जैसे की लेखन, चित्रकारी, डांस, कुकिंग इत्यादि। इससे आपके मन में संतोष की भावना बढ़ेगी और स्वास्थ्य लाभ भी होगा। आपके काम में भी फोकस बढ़ेगा और काम की गुणवत्ता में भी सुधार होगा। आज किसी प्रकार से दान ज़रूर करें।

सिंह –
आज के लिए आपके लिए सकारात्मकता से भरा रह सकता है। आपके लिए कुछ चुनौतियों का सामना करने का संकेत है लेकिन आपको इसमें जीत मिल सकती है। आपके लिए इसमें एक बात अच्छी हो सकती है कि आपको इन चुनौतियों का सामना करने में कई दोस्त और परिचित लोग मदद कर सकते हैं। ये दिन कुल मिलाकर आपके लिए कई चीजें सीखने के लिहाज से बहुत

कन्या –
आज दिन आपके लिए हड़बड़ाहट और गुस्से से नुकसान कराने वाला हो सकता है। आपको कुछ लोगों की बातों का बुरा लग सकता है या आपकी बातों का कुछ लोग गलत अर्थ निकाल सकते हैं। आपको अपने ईगो को अलग रखकर काम करने की आवश्यकता है। संभव है कि कुछ लोगों से आपका विवाद हो जाए या कुछ लोग आपसे अलग होने का मन बना लें।

तुला –
आज का दिन कुछ अलग मिजाज वाला हो सकता है। आपके लिए बदलाव के विचारों की अधिकता रह सकती है। कुछ व्यवस्थाओं और आय के स्रोतों में आपको वृद्धि करने या परिवर्तन करने का मौका मिल सकता है। जो लोग बेरोजगार हैं उन्हें कुछ अच्छे ऑफर मिल सकते हैं। जो लोग जॉब बदलना भी चाहते हैं उनके लिए भी समय अनुकूल रहेगा।

वृश्चिक –
आज का दिन आपके लिए अपने समय के बेहतर उपयोग करने के लिए है। आपको महसूस होगा कि कुछ चीजें आपका ध्यान भटका रही हैं, इस कारण आप अपने लक्ष्य तक पहुंचने में दिक्कत आ रही है। आज आप अपने प्रोफेशनल जीवन के साथ ही अपनी हेल्थ पर भी पूरा ध्यान देने की कोशिश कर सकते हैं। आपको दौड़ने और वाहन चलाने में सावधानी रखने की आवश्यकता है।

धनु –
आज का दिन आपके लिए आर्थिक मामलों में कार्यवाही करने का रह सकता है। आपको धन लाभ होने के पूरे योग बन रहे हैं, साथ ही आय का कोई अतिरिक्त स्रोत भी मिल सकता है। आप अपने काम के प्रति पूरी तरह समर्पित रहेंगे, टारगेट पर फोकस रखकर काम करेंगे। निजी जीवन में भी आपको काफी सुकून और खुशियों के पल मिल सकते हैं।

मकर –
आज आपका समय मेल-मुलाकातों में गुजरने वाला है। कुछ लोगों की लंबी तलाश पूरी हो सकती है। नए लोगों से मिलने का मौका मिलेगा जो आपको प्रोफेशनल और पर्सनल दोनों मोर्चों पर मदद करने वाले हो सकते हैं। अविवाहित और सिंगल लोगों के लिए नए रिश्तों की शुरुआत का समय है। आपके लिए दिन आज काफी अच्छा रहने वाला है। ये कई यादें बनाएगा।

कुंभ –
आज आपके लिए अपने लक्ष्य के प्रति ही समर्पित रहने का दिन है। अपनी बातों और कार्यशैली में स्पष्टता रखें। इससे आपको अपनी योग्यता को साबित करने में सहायता मिल सकती है। आज आपको किसी रिश्ते या किसी बात में थोड़ी निराशा मिलने के संकेत हैं, लेकिन इसको अपने ऊपर हावी ना होने दें, भविष्य के लिए सकारात्मक भाव मन में लेकर चलें। चीजें जल्दी ही बदलेंगी।

मीन –
आज का दिन आपके लिए व्यस्तता से भरा रह सकता है। आज आपको कई मामलों में भविष्य की योजना बनानी पड़ सकती है। लोग आपको सुनेंगे, आपकी बात समझेंगे और आपके विचारों की सराहना करेंगे। आज कुछ पुरानी बातें आपको परेशान कर सकती हैं। इनसे बचने के लिए आपको बीती बातों को भूल कर आगे बढ़ने के बारे में सोचना होगा

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
अंक ज्योतिष का सबसे आखरी मूलांक है नौ। आपके जन्मदिन की संख्या आपस में जुड़ कर नौ होती है। यह मूलांक भूमि पुत्र मंगल के अधिकार में रहता है। आप बेहद साहसी हैं। आपके स्वभाव में एक विशेष प्रकार की तीव्रता पाई जाती है।

आप सही मायनों में उत्साह और साहस के प्रतीक हैं। मंगल ग्रहों में सेनापति माना जाता है। अत: आप में स्वाभाविक रूप से नेतृत्त्व की क्षमता पाई जाती है। लेकिन आपको बुद्धिमान नहीं माना जा सकता। मंगल के मूलांक वाले चालाक और चंचल भी होते हैं। आपको लड़ाई-झगड़ों में भी विशेष आनन्द आता है। आपको विचित्र साहसिक व्यक्ति कहा जा सकता है।

शुभ दिनांक : 9, 18, 27

शुभ अंक : 1, 2, 5, 9, 27, 72

शुभ वर्ष : 2025, 2036, 2045

ईष्टदेव : हनुमान जी, मां दुर्गा।

शुभ रंग : लाल, केसरिया, पीला

कैसा रहेगा यह वर्ष
आप अपनी शक्ति का सदुपयोग कर प्रगति की और अग्रसर होंगे। पारिवारिक विवाद सुलझेंगे। महत्वपूर्ण कार्य योजनाओं में सफलता मिलेगी। अधिकार क्षेत्र में वृद्धि संभव है। नौकरी में आ रही बाधा दूर होगी। स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति सफलता का स्वाद चख सकते हैं। मित्रों स्वजनों का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी।