पीडित पत्रकार व उसके परिवार ने एस पी से न्याय की गुहार लगाई

पीडित पत्रकार व उसके परिवार ने एस पी से न्याय की गुहार लगाई

जालौन (उरई)   उरई में उरई के पीडित पत्रकार भानु प्रकाश बादल तथा उनके परिजनो ने पुलिस अधीक्षक रवि कुमार से न्याय की गुहार लगाई| वहआज अपरान्ह एक होटल मे पत्रकारो से वार्ता कर रहे थे | पीडित श्रीबादल ने बताया कि उसका पुत्र शिवम पुलिस विभाग मे फतेहपुर जिले मे कांस्टेबल के पद पर तैनात है | उनके बेटे की शादी तय हुई थी गोदभराई की रस्म 10 अगस्त 2020 को कामाख्या मंदिर अकोढी मे हुई थी | जिसमे लडकी वालो से ना तो दहेज की कोई मांग की गई थी और लडकी रश्मि और उनके लडके शिवम के बीच किसी बात को लेकर लडाई हो गयी । उसके बाद लड़की और उसके परिवार ने लड़के और उनके परिवार पर दहेज प्रथा का मुकदमा दर्ज करा दिया। लडकी उसकी बहन और परिवार वालो को बुरा भला कहती है | इस के बाद लडका और लडकी के बीच वैचारिक मतभेद होते चल गए |जिसके कारण शादी टूट गई|इसके बाद लडकी के पिता और लडकी ने क्रोध मे आकर दिनांक 20 /6 2021 को थाना जालौन मुकदमा अपराध संख्या 229/21 धारा 376 ,506 आई पी सी व 3 /4 डी पी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया | इसके बाद लडकी की सहेली माद्री के बीच मोबाइल ( टेलीफोन) मे दिनांक 8 जुलाई2021 को हुई लम्बी बातचीत मे लडकी ने अपनी सहेली मादीॗ से यह स्वीकार किया कि जब लडका शिवम शादी के लिए मान नही रहा था तो फिर उसने बलात्कार का झूठा मुकदमा लिखवाया है मेरे पुत्र शिवम ने उक्त मोबाइल फोन की बातचीत की रिकार्डिंग की सी डी एवं अन्य साक्ष्य विवेचक महोदय और एस पी साहब को मिलकर प्रार्थना की एवं दिनांक 9 सितम्बर 2021 को पंजीकृत डाक व्दारा विवेचक और एस पी महोदय को पंजीकृत डाक व्दारा भेजकर इसे विवेचना मे सम्मिलित करने की पाॗर्थना की है | लेकिन अभी तक इसे जांच मे शामिल नही किया गया| पीडित पत्रकार पिता ने पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई है यदि इन साक्ष्यो को जांच मे सम्मिलित कर मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा तथा उन्हें और उनके परिवार को न्याय मिल जायेगा|