पौधों को रोपित कर करें संतान की तरह परवरिश : श्रवण कुमार द्विवेदी

पौधों को रोपित कर करें संतान की तरह परवरिश : श्रवण कुमार द्विवेदी

उरई : शनिवार को विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर जिले के ईमानदार तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक डॉ यशवीर सिंह के कुशल दिशा निर्देश पर कस्बे के थाने में इंस्पेक्टर ने थाना परिसर में पौधरोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया। इसके साथ ही रामपुरा थाने में शिक्षाविद व पत्रकार के साथ थानाध्यक्ष ने भी पौधे रोपे।
रामपुरा थाने में पौधरोपण करते हुए शिक्षाविद व ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष श्रवण कुमार द्विवेदी ने कहा कि उन्हें पेड़ पौधों से बहुत लगाव है। तभी तो वह हर किस्म के पौधे रोपित करना चाहते हैं। क्योंकि दूर-दूर से जाकर वह पौधे लाकर रोपित करते हैं तो उन्हें काफी अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि कुठौंद के महाविद्यालय में भी उन्होंने एक बाग तैयार किया है जिसमें कहटल, काजू, आम, मौसम्मी, चीकू, नासपाती, इलायची, तेज पत्ता, कपूर सहित कई तरह के पौधे रोपित किए हैं जो अब पेड़ बनकर तैयार हो चुके हैं। इसी तरह थाना प्रभारी जेपी पाल ने भी पौधे रोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया। डकोर थानाध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि पौधरोपण को बढ़ावा देने और पौधों की देखभाल बच्चे की तरह करने से ही धरा को हरा भरा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि धरा की सुंदरता तभी तक है जब तक धरा पर पेड़ पौधे हैं। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर पौधे पर्यावरण को शुद्ध और साफ रखने के काम करते हैं। साथ ही कुछ लोग पौधे रोपित करने के बाद भूल जाते हैं जिससे पौधा सूख जाता है और अगले वर्ष फिर से पौध रोप देते हैं। यह कार्य अनुचित नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति पौधा रोपित करे तो उसे अपने पुत्र के समान देखे और बड़ा होने तक उसकी देखभाल करे तो हर जगह पौधों से धरा हरी भरी नजर आएगी। रानी गुप्ता ने कहा कि जो आज पौधे रोपित किए गए हैं उन्हें संरक्षित करना पहला काम होगा। क्योंकि पौधारोपण तो हर कोई करता है लेकिन संरक्षण नहीं। इसलिए पौधारोपण के साथ संरक्षण करें।