फाइलेरिया मुक्त भारत अभियान की सफलता के लिए आशाओ को जोनल कोऑर्डिनेटर ने दिया प्रशिक्षण।।

फाइलेरिया कार्यक्रम की सफलता को लेकर सामु. स्वा. केंद्र में आशाओं के साथ बैठक संपन्न।

रामपुरा (जालौन ) सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुरा में मंगलवार को डब्लू एच ओ के जोनल कोऑर्डिनेटर डॉ राहुल कुमार ने डॉ अनिल कुमार की अध्यक्षता में फाइलेरिया कार्यक्रम को लेकर आशा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक आयोजित की गई।

आयोजित बैठक में फाइलेरिया की दवा वितरण करने को लेकर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।
डबल्यूएचओ से आए ज़ोनल कोंओर्डीनेटर डॉ राहुल ने बताया फाइलेरिया क्यूलेस मच्छरों के काटने से होता है। इस प्रकार की बीमारी जो किसी मच्छर के काटने से होता है उसे वेक्टर जनित रोग कहा जाता है। दुनिया में सबसे अधिक विकलांगता और विरूपता का कारण फाइलेरिया ही है। जिसकी रोकथाम करना जरूरी है। इसकी रोकथाम के उपायों सर्वजन दवा सेवन अभियान द्वारा किया जा रहा हैं। सरकार द्वारा बड़ी संख्या में लोगों को फाइलेरिया जैसी गंभीर बीमारी से बचाने के लिए कई कदम उठाये हैं।
प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ प्रदीप कुमार राजपूत ने आशाओं को फाइलेरिया की दवा खिलाने पर जोर दिया। गर्भवती माता एवं बच्चा के मृत्यु रिपोर्ट ससमय देने पर बल दिया। गर्भवती की जांच के साथ-साथ बच्चे के पूर्व प्रतिरक्षण की बात कही। प्रसव के दौरान यदि महिलाओं को कोई कठिनाई हो तो उन्हें चिन्हित कर उसकी सूची सीएचसी में जमा करने का निर्देश दिया। बैठक में मौसमी बीमारी की जानकारी देते हुए उसके बचाव को लेकर खान-पान पर ध्यान रखते हुए वासी भोजन नहीं करने की बात कही। जबकि फाइलेरिया से बचाव को लेकर लोगों को खिलायी गयी दवा की समीक्षा की गयी। वहीं परिवार नियोजन लक्ष्य को पूरा नहीं करने वाली आशा को अपना लक्ष्य पूरा करने का हिदायत दी गयी।
उक्त मौके पर डब्लू एच ओ के जोनल कोऑर्डिनेटर डॉ राहुल कुमार,डॉ अनिल कुमार, एआरओ रमेश भास्कर, बीपीएम शिवकुमार, एच एस भीम प्रकाश, ई एम अंकित उपाध्याय के साथ क्षेत्र की आशाएं मौजूद रही।