बढा प्रभावित  पंचनद क्षेत्र के पुल बने सेल्फी प्वाइंट

बढा प्रभावित  पंचनद क्षेत्र के पुल बने सेल्फी प्वाइंट
बाढ़ व जलभराव की स्थिति में भी लोग जान जोखिम में डालकर नौका विहार व पुल पर भारी संख्या में घूमने जा रहे लोग 
जगम्मनपुर (जालौन)  जहां एक ओर पंचनद क्षेत्र के लोगों का बाढ़ के कारण जीवन अस्त-व्यस्त हैं ।
तो वही कुछ लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर नांव द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में टूरिस्ट स्पॉट मानकर घूम रहे हैं ।
ये हाल तब है जब 2 दिन पहले ही कालपी में नाव पलट जाने 6 लोग नदी में डूब गए जिसमें 2 लोगों को तो सुरक्षित बचा लिया गया था लेकिन 4 लोगों को नहीं बचाया जा सका था ।
इसके बावजूद लोग पंचनद क्षेत्र के बाढ़ग्रस्त इलाकों में आवारागर्दी में घूम रहे हैं ।
कई स्थानों पर तो स्थानीय प्रशासन व थाना प्रभारी जेपी पाल व जगम्मनपुर चौकी इंचार्ज व पुलिस स्टाफ के  द्वारा बेवजह पुल व नदी के आसपास दिखने वाले लोगों को चेताया जा रहा है कि नदी व पुल  पर ना जाए ।
इसके बावजूद तमाम लोग बाढ़ग्रस्त इलाकों में प्राईवेट नाव में बैठकर बाढ़ की जलधारा में विचरण करके घूमते दिखाई दे रहे हैं ।
इसके बदले में नाविकों की मोटी कमाई भी हो रही है । पंचनद क्षेत्र के कई स्थानों पर बाढ़ देखने वालों का तांता लगा हुआ है ।
कई लोगों का पंचनद पर बना जुहीखा-भीखेपुर पुल और कंजौसा – इटावा पुल सेल्फी प्वाइंट बन गया है ।
दिन – भर लोग जान जोखिम में डालकर पुल पर दोस्तों के  साथ बाढ़ और नदी की सेल्फी लेने के लिए उतावले हुए जा रहे है जगह जगह पानी भरा है लेकिन कुछ मूर्ख लोगो ने खतरे वाली जगह को सेल्फी प्वाइंट  बना दिया । यह जब तक नदी का जलस्तर खतरे का निशान के ऊपर चल रहा है ।