बाढ़ पीड़ितों की मदद को इंस्पेक्टर रामपुरा जूझ रहे हैं पानी के तूफान से

बाढ़ पीड़ितों की मदद को इंस्पेक्टर रामपुरा जूझ रहे हैं पानी के तूफान से

*

रामपुरा (जालौन )- रामपुरा क्षेत्र में भीषण बाढ़ से मची तबाही में पीड़ितों की मदद के लिए एसएसओ रामपुरा पानी के तूफान से निरंतर जूझ रहे हैं l
माधौगढ़ तहसील अंतर्गत रामपुरा क्षेत्र के नदिया पार एवं पंचनद इलाके की नदियों में भीषण बाढ़ के कारण जो तांडव हुआ उससे लगभग दो दर्जन गांव बुरी तरह से तबाह हो गए l ग्रामीणों को अपनी जान बचाना मुश्किल हो रहा है, छोटे-छोटे बच्चों सहित युवा , वृद्ध, महिलाएं बिना भोजन पानी के भूख प्यास से तड़प उठे ऐसे समय में अनेक समाजसेवी लोगों के अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारियों ने मदद का बीडा उठाया और यथासंभव मदद भी की लेकिन कुछ स्थान ऐसे भी हैं जहां पानी के तीव्र प्रवाह के कारण सेना का बचाव दल एवं राहत सामग्री पहुंचाने वाली टीम तक नहीं पहुंच पा रही है l थाना रामपुरा एसएचओ इंस्पेक्टर जेपी पाल नदिया पार के प्रत्येक बाढ पीड़ित गांव स्टीमर अथवा मोटरबोट से पहुंचकर सुरक्षा व राहत सामग्री का वितरण कर रहे हैं l ग्राम निनावली जागीर , किशनपुरा, डिकौली जागीर , भूरे का पूरा, मूल्ले का पूरा, कूसेपूरा के ग्रामीणों को लगातार खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है किंतु ग्राम जखेता, विलौंंड, हुकमपुरा अभी तक राहत नहीं पहुंचाई जा सकी है l इस संदर्भ में इंस्पेक्टर जेपी पाल ने बताया कि यह 3 गांव सिंध नदी के पार होने से वहां जल प्रवाह बहुत तीव्र है इस स्थिति में मोटर बोट से पहुंच पाना संभव नहीं हो पा रहा है , वहां पूर्व प्रधान महेश सिंह चौहान से मोबाइल द्वारा संपर्क हुआ है वह बाढ़ पीड़ितों को भोजन पानी उपलब्ध करा रहे हैं l इंस्पेक्टर जेपी पाल ने बताया कि इन 3 गांव के लोगों को हेलीकॉप्टर की मदद से रेस्क्यू किया जा सकता है l