बीस दिन पूर्व पानी में तैरते शव का राज खुला : दुर्घटना नहीं, हत्या हुई

बीस दिन पूर्व पानी में तैरते शव का राज खुला : दुर्घटना नहीं, हत्या हुई
 जगम्मनपुर (जालौन) बीस दिन पूर्व लापता 15 वर्षीय बालक का शव पानी में बरामद होने का रहस्य खुल गया है जिसमें मृतक के सिर में चोट पहुंचाकर हत्या होना साबित हुआ है।
 रामपुरा थाना अंतर्गत ग्राम भिटोरा जायघा के जंगल में 26 सितंबर को आशीष उर्फ छोटू उम्र 15 वर्ष पुत्र हरी सिंह उर्फ कल्लू निवासी ग्राम भिटौरा जंगल में अपनी गायों को चराने के दौरान लापता हो गया, बहुत खोजने पर दूसरे दिन उसका शव जायघा के जंगल के बीच तालाब के पानी में उतराता हुआ मिला । माना जा रहा था कि आशीष की मृत्यु तालाब के पानी में डूबने के कारण हुई , पुलिस चौकी जगम्मनपुर प्रभारी सुशील पाराशर की पैनी दृष्टि इस घटना में कुछ और ही खोज रही थी उन्हे कुछ अटपटा लग रहा था कि नदी के किनारे रहने बाला बालक पानी से भरे छोटे से गड्डे में कैसे डूब सकता है और उन्होंने किसी की ना मानते हुए शव का पोस्टमार्टम कराया तो उनका शक सही निकला पोस्टमार्टम रिपोर्ट के  मुताबिक बच्चे की मृत्यु सिर में चोट लगने के कारण हुई एवं शव के पेट में पानी न भरा होने के कारण यह सिद्ध कर रहा था कि आशीष की हत्या करके शव पानी में फेका गया है । उपनिरीक्षक पाराशर ने इस मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी । पुलिस अधीक्षक रवि कुमार के निर्देशन व क्षेत्राधिकारी माधौगढ़ शाहिदा नसरीन के नेतृत्व तथा रामपुरा थाना पुलिस के सहयोग से घटना की सच्चाई खोजने के लिए उन्होने जांच शुरू कर दी , मृतक के परिजनों की तहरीर पर हत्या का मामला पंजीकृत कर दिया गया है । रामपुरा पुलिस संदिग्धों से निरंतर पूछताछ कर रही है। थानाध्यक्ष रामपुरा मूलचंद यादव व जांच अधिकारी सुशील पाराशर ने बताया कि जांच चल रही है कुछ सूत्र हाथ लगे हैं उनके आधार पर घटना की कडियों को जोड़कर असली अपराधी को गिरफ्तार कर शीघ्र जेल भेजा जाएगा।