बीहड़ क्षेत्रों की सुध भूली सरकार को ध्यान देने की जरूरत – अजीत सेंगर

बीहड़ क्षेत्रों की सुध भूली सरकार को ध्यान देने की जरूरत – अजीत सेंगर

रास्तों के साथ ही साथ युवाओं का भविष्य भी हो रहा विलुप्त

सरकार की रणनीतियों में एक इकाई ध्यान बीहड़ में देने अधिक जरूरत

माधौगढ़ (जालौन) – रामपुरा ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह सेंगर वेरा ने कहा कि रामपुरा बीहड़ क्षेत्रों पर सरकार को ध्यान देने की जरुरत है अभी हाल ही में ताजा प्रकरण बाढ़ का सामने आया जिसमें कई  गाँव के रहवासी अपने आशियानों को छोड़ सुरक्षित स्थानों पर ठिकाना ढूँढने निकले इतना ही नही शासन प्रशासन की दिन रात मेहनत लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने व खाद्य सामाग्री , भोजन , व स्वास्थ्य सेवाओं को जुटाने में लगा रहा तो वहीं लोगों की बदहालिया स्थिति को देख सूवे के मुखिया योगी आदित्य नाथ ने पंचनद के बीहड़ इलाकों में जायजा लिया  इस प्रकार की तवाही के मंजर को देख हृदय कुठित हो जाता है आखिर हो भी क्यो ना भीषण बाढ़ तबाही ने किसानों मजदूरों व अन्य लोगों की सुख चैन शांति को छीन लिया व घर , गृहस्थी , जानवर बाढ़ में डूब कर बह गये हालांकि यदि देखा जाये तो पहले ही कोरोना ने लोगों के जीवन पर गहरा आघात पहुँचाया है जिसमें कारोबार ढप्प पड़ जाने से मजदूरों को घर वापस आना पड़ा व जानवरों व मजदूरी कर पेट पालने लगा अब बाढ़ ने लोगों  स्थिति को बिगाड़ दिया व लोगों की चिन्ताओं का एक बड़ा प्रश्न खड़ा हो गया है तो वहीं यदि देखा जाये तो बीहड़ इलाकों में रास्ते की समस्याओं का झंझट आज भी उमड़ा रहा है चाहे बच्चों के विधालय पहुँचने का मार्ग हो या फिर मरीज को स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराने का रास्ता पर समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है आखिरकार जिम्मेदारियों में बंधे जिम्मेदारों ने इन समस्याओं पर विचार करने की हिमाकत क्यों नही की तो वहीं इससे पहले स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अजीत सिंह ने कहा था कि यह ब्लाक प्रमुख बनने के बाद मेरा पहला स्वतंत्रता दिवस है जो कि एक यादगार लम्हा है आज जिस विश्वास के साथ क्षेत्रीय लोगों ने हम पर भरोसा जताया है उसे हम झूठा साबित नही करेंगे व क्षेत्र को एक नये विकास के साथ नयी इकाई में बदलने का प्रयास करेगें व रामपुरा बीहड़ क्षेत्र की बिगड़ी हुई स्थिति को सरकार तक पहुँचाया जायेगा व आगे रहकर कार्यों को किया जायेगा ।