बेटी ने किया गांव व जनपद का नाम रोशन

 बेटी ने किया जगम्मनपुर ग्राम व जनपद का नाम रोशन

जगम्मनपुर ( जालौन) : कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों। किसी कवि की इन पंक्तियों को ग्रामीण परिवेश में पली-बढ़ी वीरों की धरती बुन्देलखण्ड जालौन के ग्राम जगम्मनपुर के निवासी प्रमोद कुमार पाण्डेय की बेटी नेहा पाण्डेय ने मेडीकल नर्सिंग काॅलेज मे 84 .5 प्रतिशत अंको के साथ पास कर पुन: साबित कर दिया कि अगर मन लगाकर लगन मेहनत से परिश्रम किया जाए तो मंजिल दूर नहीं है।

नेहा की प्रारंभिक शिक्षा कन्या प्राइमरी स्कूल में हुई इसके बाद इंटरमीडिएट की शिक्षा राजमाता इंटर कॉलेज जगम्मनपुर से की फिर के टी एस लखनऊ नर्स काॅलेज से की।
नेहा के पिता प्रमोद कुमार पान्डेय जो एक प्राइवेट स्कूल में अध्यापक है ग्रामीण परिवेश व साधारण परिवार से होने के वाबजूद नेहा पाण्डेय ने के टी एस काॅलेज में टाॅप 5 रैंक में 4 स्थान पाया। नेहा पाण्डेय ने बताया आगे चलकर वह ग्रामीण क्षेत्र में कार्य करना चाहती है जिससे ज़रूरत मन्द लोगो की सेवा कर करने का अवसर मिल सके,

आन्या न्यूज़ समूह ने नेहा पाण्डेय को उज्ज्वल भविष्य के लिए हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी