मंदाकिनी स्वच्छता के लिए नौ महीने पहले बनी समिति की आजतक नहीं हुई बैठक

चित्रकूट ब्यूरो: नमामि गंगे के तहत जिले में बीते नौ महीने पहले बनाई गई जिला गंगा समिति की आजतक कोई बैठक नहीं हो पाई। 13 सदस्यीय इस समिति के तहत मंदाकिनी नदी समेंत जिले की अन्य सहायक नदियों में प्रदूषण की रोकथाम की दिशा में कायर् करना था।
बुन्देली सेना के जिलाध्यक्ष/गंगा समिति के सदस्य अजीत सिंह ने बताया कि शासन के निदेर्श पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 13 सदस्यीय समिति बनाई गई थी। डीएफओ की समिति में संयोजक की भूमिका है। सांसद बांदा आरके सिंह पटेल की सहमति पर चार सदस्यों अजीत सिंह, आशीष रघुवंशी, संजय सिंह और संतोष गगर् को सदस्य नामित किया गया था। इसके अलावा समिति में अधिशाषी अभियंता लोकनिमार्ण, सिंचाई विभाग व जल निगम, सीएमओ, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोडर् बांदा तथा ईओ नगर पंचायत राजापुर शामिल किए गए थे। यह समिति बीती आठ जुलाई 21 को गठित हुई थी, अब तक नौ महीने बीत गए, लेकिन समिति की एकबार भी बैठक नहीं हो पाई। बैठक न कराने के लिए समिति सदस्य अजीत सिंह ने संयोजक डीएफओ को जिम्मेदार ठहराया है। बताया कि मंदाकिनी नदी प्रदूषण से कराह रही है। अन्य सहायक नदियों के भी यही हाल हैं, लेकिन अधिकारी कागजी कोरम पूरा कर रहे हैं। उन्होंने जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ल से मांग की है कि हर महीने गंगा समिति की बैठक कराई जाय। हर महीने बैठक होने से मंदाकिनी प्रदूषण समेंत अन्य नदियों को लेकर साथर्क विमशर् होगा और तमाम समस्याओं का समाधान निकलेगा।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक