मुस्कान हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर पर हुआ प्रखर बुद्धि पुरस्कार का 12वां सम्मान समारोह।।

विद्यार्थियों के जीवन में प्रयास ही सबसे महत्वपूर्ण,

प्रखरबुद्धि पुरस्कार से जिले की तीन टॉपर्स बेटियां सम्मानित,

विद्यार्थियों को बताया गया लक्ष्य पर केंद्रित रहने का लाभ,

उरई (जालौन ) गांधी स्नातकोत्तर महाविद्यालय के पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष और साहित्यकार डॉ. दिनेश चंद्र द्विवेदी की स्मृति में आयोजित प्रखरबुद्धि समारोह में जिले की तीन टॉपर्स बेटियों- आकांक्षा पटेल, रोशनी सिंह और आशी श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया। इस दौरान युवा वर्ग के सामने शिक्षा और अनुशासन के महत्व को रेखांकित कर इसका लाभ बताया गया। मुस्कान हॉस्पिटल एंड नर्सिंग सेंटर पर प्रखरबुद्धि पुरस्कार का 12 वां समारोह सम्पन्न हुआ। समारोह की प्रमुख अतिथि भाजयुमो की प्रांतीय नेत्री मनीषा ‘सिंह’ त्रिपाठी ने कहा कि विद्यार्थी का निर्णय बिल्कुल स्पष्ट होना चाहिए। उसे जब अपना लक्ष्य पता होगा तो ही आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। सीखने की कोई उम्र नहीं होती, इसलिए सीखते रहें। मनीषा ने कहा कि बेटियां न तो आगे बढ़ने में डरें न ही घबराएं। वे पूरे आत्म विश्वास के साथ अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल करें। गलतियों से सीखें और अपने सपनों को पंख लगने दें। उन्होंने कहा कि जीवन में कोशिश सबसे अधिक महत्वपूर्ण होती है, इसलिए इसे जारी रखना चाहिए। गल्ला व्यापार संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप माहेश्वरी ने कहा कि व्यक्ति को हमेशा सकारात्मक रहना चाहिए। वे उड़ें खूब पर इसकी दिशा सही होनी चाहिए। मुस्कान इंस्टीट्यूट के मैनेजिंग डॉयरेक्टर देवेंद्र शुक्ला ने शिक्षा के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। कहा कि यदि व्यक्ति के भीतर प्रेम की धारा नहीं तो फिर वह रोबोट के समान ही है। श्री शुक्ला ने कहा लड़ो पढ़ाई करने को और पढ़ो समाज बदलने को। विशिष्ट अतिथि अनिल यादव के अनुसार विश्वास के सहारे ही प्रगति संभव है। कार्यक्रम संयोजक पूर्व ब्लाक प्रमुख सुदामा दीक्षित ने अनुशासन को जिंदगी का सबसे उपयोगी गुण बताया। उन्होंने कहा कि बच्चे पहले अपनी विशेषता को पहचानें फिर उसी दिशा में आगे बढ़ें। लक्ष्य तक तभी वह पहुंच सकेगा। वरिष्ठ पत्रकार अनिल शर्मा ने कहा कि व्यक्ति को भले ही कम मिले पर उसे संतोष रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छे मित्र वह हैं, जो सबसे अधिक दिनों से आपके साथ हैं। पुरस्कार समिति के अध्यक्ष अरविंद गौतम चच्चू ने एक शेर पढ़कर विद्यार्थियों का हौसला बढ़ाया। मुस्कान इंस्टीट्यूट के निदेशक डा. अंकुर शुक्ला ने कहा कि बच्चों में विकास के लिए आस जगाए रखना ही इस संस्था का उद्देश्य है। समारोह का संचालन डॉ कुमारेन्द्र सेंगर ने सारगर्भित और तथ्यपूर्ण विधि के साथ किया। इस दौरान रेणुका, खुशबू पाल, खुशबू राजपूत और साक्षी सिंह ने सरस्वती वंदना और स्वागत गीत गाया। रामजी ने भी गीत गान किया। इसके पूर्व अतिथियों ने विश्व विद्यालय टॉपर आकांक्षा पटेल, सीबीएसई (इंटर) जिला टॉपर आशी श्रीवास्तव तथा अरविंद माधुरी तिवारी कॉलेज टॉपर रोशनी सिंह को प्रशस्तिपत्र और नगद पुरस्कार राशि देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ राकेश द्विवेदी, अभय प्रताप भदौरिया, सारिका आनंद तिवारी, संजीव गुर्जर, संजय हावर्ड, ओमप्रकाश उदैनिया, श्वेता शर्मा, योगेश पांडेय, केके अग्रवाल, विजय तिवारी, डा. मनीष, स्वाति समाधियां, शिफा, साइना आयुषी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।