योगी आदित्यनाथ के कदम को BSP मुखिया मायावती ने फिर सराहा

0
मायावती ने कोटा में फंसे छात्रों को वापस लाने के लिए बसें भेजने के योगी सरकार के फैसले की तारीफ की।

लखनऊ:- कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने एक बार फिर सीएम योगी आदित्यनाथ के कदम को जोरदार ढंग से सराहा है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जहां योगी आदित्यनाथ के कदम पर तंज कसा था, वहीं मायावती ने सराहना की है।

लॉकडाउन में राजस्थान के कोटा में कोचिंग करने गए प्रदेश के सात हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को उत्तर प्रदेश वापस लाने के सीएम योगी आदित्यनाथ के कदम की मायावती ने जमकर सराहना की है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश से दो सौ से अधिक बस राजस्थान के कोटा भेजी हैं। आगरा, जालौन तथा झांसी से इन बसों को कोटा भेजा गया है। जिनमें मास्क के साथ सैनिटाइजर भी हैं। इसके साथ ही चालक तथा कंडक्टर को साफ निर्देश हैं कि फिजिकल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखते हुए बच्चों को बस में बैठाया जाए।

इन बसों में प्रदेश के सभी 75 जिलों के छात्र-छात्राओं को लाया जा रहा है। इन सभी के शनिवार रात या रविवार सुबह तक लखनऊ तथा अन्य जिलों में पहुंचने की संभावना है। कोटा में फंसे छात्रों को लेने कासगंज डिपो की चार बसें कोटा पहुँची हैं। दो बसों में बरेली, एक-एक मे पीलीभीत, शाहजहांपुर, बदायूं के छात्र आएंगे।

बसपा मुखिया मायावती ने सीएम योगी आदित्यनाथ के इस कदम की सराहना करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि कोचिंग पढऩे वाले लगभग 7,500 बच्चों को लॉॅकडाउन से निकालने व उन्हें सुरक्षित घरों तक भेजने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने, काफी बसें कोटा, राजस्थान भेजी है। यह स्वागत योग्य कदम है। बीएसपी इसकी सराहना भी करती है।

उन्होंने यह भी कहा, लेकिन सरकार से यह भी आग्रह है कि वह ऐसी चिन्ता यहां के उन लाखों गरीब प्रवासी मजदूर परिवारों के लिए भी जरूर दिखाये, जिन्हें अभी तक भी उनके घर से दूर नारकीय जीवन जीने को मजबूर किया जा रहा है।