राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक वादों को चिन्हित कर सुलह समझौता कराए जाएंगे

बैठक करते न्यायिक अधिकारी

 

उरई (जालौन)। उच्च न्यायालय इलाहाबाद हाईकोर्ट प्रयागराज के दिशा निर्देश पर जन जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से परिवार न्यायालय की बैठक प्रधान कुटुम्ब न्यायाधीश मनोज कुमार सिंह गौतम के विश्राम कक्ष में आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिए दूसरी बैठक हुई जिसमें वादो के निस्तारण पर चर्चा की गई ।

अनुक्षवण राष्ट्रीय लोक अदालत समिति की अध्यक्षता अपर प्रधान कुटुम्ब न्यायाधीश अमृता शुक्ला की अध्यक्षता में 9 मार्च को होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक पारिवारिक मामलों के वादों
एवं प्री लिटिगेशन वादो को आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत में लगाकर सुलह समझौता के आधार पर निस्तारण कराने का प्रयास करे न्यायालय से जो भी सहयोग की आवश्यकता हो बताएं । के के प्रजापति परामर्शदाता ने अपने स्तर पर 200 मुकदमे चिन्हित कर सुलह समझौता करने की बात कही है वही परिवार कल्याण विशेषज्ञ प्रियंका द्विवेदी ने कहा है की उन्होंने 200 मुकदमे को चिन्हित किए है जिनको सुलह समझौता कराए जाएंगे सुलेखा सिंह मध्यस्थता मेडिएशान सेंटर जालौन उरई द्वारा प्रतिदिन के वादो अधिक से अधिक आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलह समझौता के आधार पर निस्तारण किए जाने के प्रयास के संबंध में बात की है! इस दौरान प्रधान कुटुंब न्यायाधीश मनोज कुमार गौतम अपर प्रधान कुटुम न्यायाधीश अमृता शुक्ला समिति के सदस्य राजीव खरे मंसरिम प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय सुलेखा प्रियंका द्विवेदी आदि मौजूद रही