राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलह-समझौते से निस्तारित किए गए 4,969 मुकदमे

चित्रकूट ब्यूरो: जिला मुख्यालय में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कायर्पालक अध्यक्ष व उच्च न्यायालय इलाहाबाद के मुख्य संरक्षक/न्यायाधीश प्रीतिंकर दिवाकर की मौजूदगी में किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष व जिला जज राधेश्याम यादव की अध्यक्षता में हुए इस आयोजन में सुलह-समझौते के आधार पर कुल 4,969 मुकदमों का निस्तारण किया गया।
राष्ट्रीय लोक अदालत में प्राधिकरण के कायर्पालक अध्यक्ष/न्यायमूतिर् प्रीतिंकर दिवाकर ने कहा कि इस आयोजन का मकसद अदालतों में मुकदमों का बोझ कम करना है, जिससे लोगों को कम समय में सस्ता और सुलभ न्याय मिल सके। लोक अदालत में जिला जज राधेश्याम यादव ने एक इजरावाद का निस्तारण कर 80 हजार रुपये संबंधित को दिलाए। परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश रामकृपाल ने 15 वादों का निस्तारण किया और एक लाख पांच हजार रुपये प्रतिकर के रूप में दिलाए व पंद्रह दंपतियों के बीच सुलह कराई। एससी-एसटी एक्ट के विशेष न्यायाधीश सतीश चंद्र द्विवेदी ने दो वाद निस्तारित किए। अपर जिला जज (पाक्सो एक्ट) संजय के लाल ने एक मामले का निस्तारण किया और पांच सौ रुपये जुमार्ना लगाया। अपर जिला जज दीपनारायण तिवारी ने 201 वाद निस्तारित किए। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय कुमार ने 901 वादों का निस्तारण कर एक लाख 30 हजार 420 रुपये का जुमार्ना किया। सिविल जज सीनियर डिवीजन अरुण कुमार यादव ने तीन उत्तराधिकार वाद निस्तारित करते हुए 65,87,814.09 रुपये के प्रमाणपत्र जारी किए गए। इसके अलावा तीन मूल वाद व तीन फौजदारी वादों का निस्तारण करते हुए 7,300 रुपये का अथर्दंड वसूला गया। सिविल जज सीनियर डिवीजन एफटीसी प्रवीण कुमार यादव ने तीन एनआई एक्ट निस्तारित किए। एक मूल वाद व 105 अन्य वादों का निस्तारण कर 2,100 रुपये अथर्दंड वसूला गया। सिविल जज जूनियर डिवीजन वसुंधरा शमार् ने छह मूल वाद, दो घरेलू हिंसा, 34 फौजदारी वादों का निस्तारण कर 6,800 रुपये जुमार्ना वसूला। न्यायिक मजिस्ट्रेट संघमित्रा सिंह ने 50 फौजदारी वादों का निस्तारण कर 900 रुपये अथर्दंड वसूला। सिविल जज जूनियर डिवीजन जेएम मऊ प्रशांत मौयार् ने 107 वादों का निस्तारण कर 46,880 रुपये जुमार्ना वसूला। ग्राम न्यायालय मानिकपुर के न्यायिक अधिकारी ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह ने 104 वादों का निस्तारण कर 2,180 रुपये अथर्दंड वसूला। इसके अलावा प्री-लिटीगेशन स्तर के 3,426 वादों का निस्तारण किया गया। साथ ही सभी बैंकों द्वारा 561 प्री-लिटीगेशन स्तर के वादों का निस्तारण किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पूणर्कालिक सचिव विदुषी मेहा ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलह-समझौते के आधार पर कुल 4,969 मुकदमों का निस्तारण किया गया।
इस मौके पर अपर जिला जज प्रथम रवींद्र कुमार श्रीवास्तव, अपर जिला जज सत्येंद्र प्रकाश पांडेय, अपर जिला जज विनीत नारायण पांडेय व अधिवक्ता संघ जिलाध्यक्ष सुरेश तिवारी समेत न्यायिक अधिकारी, अधिकारी व अधिवक्ता मौजूद रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक