विद्यालय खुलने से छात्र छात्राओं में बढ़ी पढ़ने की लालसा।

विद्यालय खुलने से छात्र छात्राओं में बढ़ी पढ़ने की लालसा।

 पाँच माह बाद सड़कों में फिर दिखे स्कूली बच्चे।

तुलसी धाम राजापुर (चित्रकूट ) उत्तर प्रदेश सरकार के गाइडलाइन्स के अनुसार कोरोना महामारी को देखते हुए पूर्व माध्यमिक विद्यालय लगभग 5माह के बाद पुनः शिक्षा के लिए खोले गए हैं। वहीं विद्यालयों में कम बच्चों की उपस्थिति देखने को मिल रही है और मिडडे मील चलाने की व्यवस्थाएँ प्रधानाध्यापक के द्वारा किए जाने की बात कही गई है।
क्षेत्र रामनगर व पहाड़ी अन्तर्गत पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजापुर व पहाड़ी ब्लाक के बेराऊर विद्यालयों में छात्रों की संख्या 10 और 12 थी।
पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजापुर के प्रधानाध्यापक ब्रजेश शुक्ला ने बताया कि शासनादेश आने पर पूरे विद्यालय की साफ सफाई एवं अन्य सैनेटाइजेशन कराने के बाद अभिभावकों से डोर टू डोर मिलकर बच्चों को मास्क के साथ भेजने की अपील की गई है। प्रथम दिन 6, 7 और 8 तीनों कक्षाओं के कुल 12 छात्र छात्राएँ आए थे जिन्हें कोरोना गाइडलाइन्स के अनुसार सामाजिक दूरियाँ बनाकर पठन पाठन का कार्य कराया गया है, जबकि 100 बच्चों का पंजीकरण है।
इसी प्रकार पहाड़ी क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेराऊर के इंचार्ज प्रधानाध्यापक ओमप्रकाश, अनन्त कुमार चौरसिया, नन्दलाल पाण्डेय ने बताया कि ग्राम प्रधान के माध्यम से गाँव में ढिंढोरा पिटवाकर अभिभावकों को जानकारी दी गई है व कहा गया है कि छात्र छात्राएँ अपना अपना मास्क लेकर विद्यालय आएँगे। बिना मास्क के विद्यालय में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। पूरे विद्यालय को सैनेटाइज करा दिया गया है और पठन पाठन में सामाजिक दूरियों का विशेष ध्यान रखा जाएगा।
पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजापुर के कक्षा- 8 के छात्र लवकुश व कक्षा- 6 की छात्रा वैष्णवी देवी ने कहा कि लगभग 5माह से स्कूल न खुलने के कारण हमारी पढ़ाई नहीं हो पा रही थी तथा ऑनलाइन पढ़ाई के लिए हमारे  पास फोन की भी व्यवस्था नहीं थी, जब प्रधानाध्यापक के द्वारा सूचना मिली कि 24 तारीख से विद्यालय का पठन पाठन कार्य शुरू हो रहा है तो पढ़ने की लालसा बढ़ गई और दूसरे दिन विद्यालय जाकर पठन पाठन किया।
दोनों ने कहा कि हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कोरोना के कारण विद्यालय न बन्द हों।