व्यापारियों के साथ बैठक कर अतिक्रमण हटाने की दी हिदायत।

 

व्यापारियों के साथ बैठक कर अतिक्रमण हटाने की दी हिदायत।

नाली व पटरी पर अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

तुलसी धाम राजापुर (चित्रकूट )- गोस्वामी तुलसीदास जी की जन्मस्थली में बढ़ते अतिक्रमण को देखते हुए उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी व अधिशाषी अधिकारी की एक संयुक्त टीम भारी पुलिस बल के साथ पहले सब्जी विक्रेताओं के साथ बैठक कर अतिक्रमण हटाने के सुझाव व निर्देश दिए गए।
बताते चलें कि तुलसी जन्मस्थली राजापुर एक धार्मिक स्थल है जहाँ देश विदेश से तुलसीकृत श्रीरामचरितमानस के दर्शन करने के लिए दूर दराज से लोग भी आते हैं लेकिन अतिक्रमण होने के कारण वाहन पहुँचने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सब्जी व्यापारियों की बैठक को सम्बोधित करते हुए उपजिलाधिकारी राजीव कुमार राय ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के नगर निगम से लेकर नगर पंचायतों तक शासन द्वारा अतिक्रमण हटाने के शख्त निर्देश जारी किए गए हैं। इसी क्रम में सब्जी व्यापारियों से कहा कि नगर पंचायत की नाली सीमा छोंड़कर  नवीन सब्जी मण्डी में नगर पंचायत द्वारा निर्धारित शुल्क पर अपनी अपनी दुकानों का निर्धारण कराकर मंगलवार की सुबह से ही नवीन सब्जी मण्डी में दुकानें लगाई जाएँ।
सब्जी व्यापारियों ने कहा कि किसी भी सब्जी विक्रेता के साथ भेदभाव का रवैया न अपनाया जाए और नगर पंचायत द्वारा लॉटरी सिस्टम के माध्यम से नवीन सब्जी मण्डी की दुकानों का निर्धारण करने की माँग की है।
जिस पर अधिशाषी अधिकारी बीएन कुशवाहा ने कहा कि किसी भी सब्जी व्यापारी के साथ जाति, धर्म के भेदभाव को भुलाकर लॉटरी सिस्टम से दुकानों का आवंटन किया जाएगा।
उधर क्षेत्राधिकारी राजापुर शिवप्रकाश ने कहा कि यदि सब्जी विक्रेता शासनादेश के अनुसार कार्य नहीं करेंगे और नाली की पटरियों पर अतिक्रमण करेंगे तो उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी तथा राजापुर पुलिस को निर्देशित किया है कि इसके बावजूद भी नाली व पटरी के ऊपर दुकान लगाने वाले दुकानदारों की वीडियोग्राफी कराए जाने के निर्देश दिए हैं।
बैठक के बाद उपजिलाधिकारी राजीव कुमार राय की अगुवाई में अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत दुकानदारों को नाली की पटरी पर कर रहे अतिक्रमण को हटाने की मुहिम शुरू कर दी गई है जिसमें क्षेत्राधिकारी शिवप्रकाश, अधिशाषी अधिकारी बीएन कुशवाहा, वरिष्ठ उपनिरीक्षक योगेश तिवारी, नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि प्रमोद द्विवेदी तथा भारी पुलिस बल व नगर पंचायत के कर्मचारी मौजूद रहे।