शिक्षा’ एकमात्र साधन है जो प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में परिवर्तन का कारक बन सकती है :

जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने नौनिहालों को स्वयं भोजन कराया साथ ही नौनिहालों के साथ भोजन भी किया।

उरई ( जालौ माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा 4 अप्रैल से 30 अप्रैल 2022 तक प्रत्येक परिषदीय विद्यालय में वृद्ध स्तर पर स्कूल चलो अभियान संचालित किए जाने का निर्णय लिया गया। माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा श्रावस्ती से स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ किया गया। जनपद जालौन के सभी 1510 परिषदीय विद्यालयों में बच्चों व शिक्षकों द्वारा इस कार्यक्रम का सजीव प्रसारण देखा गया। जनपद के समस्त परिषदीय विद्यालयों में माननीय मुख्यमंत्री जी का उद्बोधन सुना गया। स्कूल चलो अभियान’ के शुभारम्भ के अवसर पर नौनिहालों को भोजन कराते मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी मुझे प्रसन्नता है कि लगभग दो वर्ष बाद कोरोना जैसी महामारी पर प्रभावी अंकुश लगाने के पश्चात हम लोग पुनः स्कूल चलो अभियान के इस कार्यक्रम के साथ जुड़ रहे हैं। मैं इस अवसर पर प्रदेश की भावी पीढ़ी, नौनिहाल बच्चों का हृदय से स्वागत व अभिनन्दन करता हूं। विगत 02 वर्ष हम सभी ने सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना का सामना करते हुए व्यतीत किया। कोरोना महामारी से जीवन का प्रत्येक क्षेत्र प्रभावित हुआ, लेकिन स्कूली शिक्षा सबसे अधिक प्रभावित हुई। कोरोना काल में मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में तकनीक का इस्तेमाल करते हुए ऑनलाइन एजुकेशन को बढ़ावा दिया गया। आज स्नातक व परास्नातक के सभी छात्र-छात्राओं को टैबलेट व स्मार्टफोन वितरण कार्य युद्धस्तर पर आगे बढ़ा रही है। किसी को ज्ञानवान बना देना ही जीवन का सबसे पवित्र कार्य है। इसका आधार है ‘शिक्षा है। स्कूल चलो अभियान’ के इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने से पवित्र कार्य और कोई हो ही नहीं सकता है। शिक्षा’ एकमात्र साधन है जो प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में परिवर्तन का कारक बन सकती है। शिक्षा ही वास्तव में प्रत्येक नागरिक को एक सही दिशा दे सकती है व उनके सर्वांगीण विकास की आधारशिला रख सकती है। हमने हर बच्चे को बैग, किताबें, दो यूनिफॉर्म, जूते-मोजे व स्वेटर उपलब्ध कराया। इसके साथ ही जनप्रतिनिधियों, शिक्षा विभाग के अधिकारियों, पुरातन छात्रों व समाज-सेवकों द्वारा विद्यालयों को गोद लेकर ‘ऑपरेशन कायाकल्प’ के माध्यम से स्कूलों का कायाकल्प कराया गया। यह न केवल हमारा नैतिक दायित्व है, बल्कि राष्ट्रीय कर्तव्य भी है। अपने देश को दुनिया की एक ताकत बनाने के लिए हमें प्रत्येक बच्चे को शिक्षित करना होगा और इसके लिए आवश्यक है कि हम सभी बच्चों को स्कूल भेजें। मैं प्रदेश के समस्त जनप्रतिनिधियों, समाज-सेवकों व पुरातन छात्रों से अपील करता हूं कि जो विद्यालय पिछली बार छूट गए थे उनमें से एक-एक विद्यालय गोद लें और ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से सभी प्रकार की बुनियादी सुविधाओं से आच्छादित करने में योगदान दें। जनपद जालौन में समस्त परिषदीय विद्यालयों में माननीय मुख्यमंत्री का उद्बोधन सुनने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष श्री घनश्याम अनुरागी व जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने स्कूल चलो अभियान के तहत बीआरसी मढोरा में मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने इस अवसर पर नौनिहालों को स्वयं भोजन कराया साथ ही नौनिहालों के साथ भोजन भी किया। उन्होंने जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने अपने बच्चों को स्कूल चलो अभियान से जोड़ें तथा इस अभियान में शत-प्रतिशत बच्चों का नामांकन कराएं। उन्होंने कहा कि बिना शिक्षा के न तो गांव विकसित होगा और ना ही शहर और न देश का। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ स्वच्छता को भी जोड़ा जाए। उन्होंने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर द्वारा कही गई तीन महत्वपूर्ण बातों से बच्चों को रूबरू कराते हुए कहा कि शिक्षित हो जाओ स्वच्छ रहो व नशे से दूर रहो। उन्होंने इस मौके पर बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी परिषदीय विद्यालयों के शिक्षक गण आज से ही इस अभियान को सफल बनाने में जुट जाएं और अपनी अपनी ग्राम सभा से संबंधित शत-प्रतिशत बच्चों का नामांकन कराना सुनिश्चित करें अभियान में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ अभय कुमार श्रीवास्तव जनप्रतिनिधि सहित अधिकारी व कर्मचारी बच्चे आदि मौजूद रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक