स्वतंत्रता दिवस पर विद्यालय में दिखा सद्भावना का अभाव

स्वतंत्रता दिवस पर विद्यालय में दिखा सद्भावना का अभाव
👉एक ही परिसर में अलग-अलग दो झंडे फहराए गए
👉 गंदगी के बीच जमीन पर फहराया तिरंगा*

जगम्मनपुर (जालौन ) राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस पर राजकीय शिक्षण संस्थान में शिक्षिकाओं के मध्य सद्भावना के अभाव में अलग-अलग दो तिरंगा ध्वज फैलाकर अपनी आपसी कटुता का इजहार किया गया। जगम्मनपुर स्थित राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में हेमलता गौतम प्रधानाचार्या के रूप में पदस्थ हैं, इसी राजकीय बालिका इंटर कॉलेज के भवन में राजकीय कन्या जूनियर हाई स्कूल ही संचालित है जिसकी प्रधानाध्यापिका श्रीमती सुनीता वर्मा है । एक ही परिसर में दोनों विद्यालय संचालित होने के बावजूद प्रधानाचार्या हेमलता एवं प्रधानाध्यापक सुनीता वर्मा के बीच सद्भावना का व्यवहार प्रकट नहीं होता है, इसका प्रमाण आज 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के गौरवशाली पर्व पर एक ही परिसर में दो अलग-अलग तिरंगा झंडा फहराए गए जिसमें इंटर कॉलेज की ओर से ग्राम प्रधान प्रज्ञादीप गौतम, ग्राम पंचायत अधिकारी राममोहन एवं गांव के संभ्रांत लोगों की उपस्थिति में विद्यालय भवन के सर्वोच्च शिखर पर शिखर पर तिरंगा फहराया गया वहीं राजकीय कन्या जूनियर हाई स्कूल की प्रधानाध्यापिका द्वारा जीआईसी की बाउंड्री के अंदर गंदगी युक्त अपवित्र मैदान पर जमीन में ध्वज दंड (बांस) दबाकर तिरंगा फहराया गया । हालांकि भारतीय झंडा संहिता 2002 में उक्त स्थिति के लिए कोई स्पष्ट नियम नहीं बताए गए फिर भी व्यावहारिक रूप से राष्ट्र के गौरव का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज दंड को गंदगी से पटे भूखंड में गड्ढा खोद बांस को दबाकर खड़ा करना अव्यवहारिक प्रतीत होता है एवं एक ही परिसर में अलग-अलग दो राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाना अध्यापिकाओं की आपसी कटुता को दर्शाता है।