200 से ज्यादा देशों तक फैले कोरोना से 176,714 लोग हुए ठीक, स्पेन-इटली में 20000 से अधिक मौतें

0

पहले एक लाख पीड़ितों की संख्या तक पहुंचने में तीन महीने लेने वाली कोरोना वायरस महामारी का असर तेजी से बढ़ रहा है। चीन से फैली महामारी की चपेट में 201 देश आ चुके थे, जबकि इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 8,28,305 पहुंच गई है। वहीं, 40,735 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में 100 साल की सबसे बड़ी आपदा हो गई है, यहां 3400 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। अब तक 1,74,445 लोग संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।

महामारी का सबसे बुरा प्रभाव झेल रहे इटली के बाद स्पेन सबसे ज्यादा घातक दौर से गुजर रहा है, जहां मंगलवार को 24 घंटे में 849 लोगों की मौत हुई। स्पेन में 94,417 लोग इसकी चपेट में हैं, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 8,269 पहुंच गया है। हालांकि देश की स्वास्थ्य प्रमुख मारिया जोस सिएरा ने दावा किया है कि संक्रमण का आंकड़ा लगातार नीचे जा रहा है। देश में नए संक्रमितों की पहचान के लिए जांच में भी तेजी आई है और यह आंकड़ा 20 हजार से अचानक बढ़कर 50 हजार पर पहुंच गया है। वहीं, इटली में मरीजों का आंकड़ा 1,05,792 पहुंच गया। वहीं, 837 नई मौत के साथ मरने वालों की संख्या 12,428 हो चुकी है। इटली में द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद किसी आपदा के चलते मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है।

ब्रिटेन में भी 24 घंटे के अंदर 400 लोगों की मौत दर्ज की गई है और अब वहां 1808 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि 22,141 इस संक्रमित हैं। अमेरिका में 12,730 नए केस के साथ कुल संक्रमित 1,76,518 हो गए हैं, जबकि 3431 लोगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में भी संक्रमण बढ़ रहा है। भले वहां 682 लोगों की मौत हुई है, लेकिन संक्रमण की चपेट में 68,180 लोगों के साथ जर्मनी 5वें नंबर पर है। ईरान में 141 लोगों की मौत मंगलवार को होने के बाद कुल आंकड़ा 2898 हो गया है। यहां 44,605 लोग संक्रमित हैं। फ्रांस में सोमवार रात तक 44,550 संक्रमित थे, जबकि 3024 लोगों की मौत दर्ज की जा चुकी थी।

1906 में सैन फ्रांसिस्को में भूकंप से 3389 की हुई थी मौत
अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 3,400 से ज्यादा हो गई है और 1.76 लाख लोग संक्रमित मिले हैं। 100 साल के इतिहास में यह अमेेरिका की सबसे बड़ी मानवीय आपदा है। मौत के आंकड़े ने 2001 के 9/11 हमले (2,996), 1906 के सैन फ्रांसिस्को भूकंप (3389) और 1989 के चक्रवाती तूफान को (3,000) को पीछे छोड़ दिया है।
लॉकडाउन के बाद सैकड़ों अमेरिकियों ने छोड़ा नेपाल
लॉकडाउन में सैकड़ों फंसे हुए अमेरिकी नागरिकों ने मंगलवार को नेपाल छोड़ दिया। अमेरिकी सरकार ने काठमांडो एयरपोर्ट से 302 अमेरिकियों को वाशिंगटन लाने के लिए कतर एयरवेज की एक फ्लाइट की व्यवस्था की थी।

 

बांग्लादेश ने नौ अप्रैल तक बढ़ाया लॉकडाउन

कोरोना वायरस के सामुदायिक स्तर तक फैलने की आशंका के चलते बांग्लादेश ने मंगलवार को देशव्यापी लॉकडाउन को नौ अप्रैल तक बढ़ा दिया है। बांग्लादेश ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए चार अप्रैल तक लॉकडाउन किया था।

सितंबर में मानव पर टीके का परीक्षण

वायरस से निजात पाने के लिए वैक्सीन निर्माण पर लगातार काम हो रहा है। एक वैक्सीन जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी ने भी बनाई है। कंपनी ने कहा है कि उसने संभावित टीके की पहचान की है जिसका सितंबर में मानव परीक्षण किया जाएगा। यह अगले साल के शुरुआती माह में आपात इस्तेमाल के लिए भी उपलब्ध हो सकता है। इस फार्मास्युटिकल कंपनी ने समझौते पर दस्तखत भी किए  हैं। इसके लिए एक अरब डॉलर का निवेश भी किया जाएगा।

 

हाथ में पकड़ा जाने वाला सस्ता वेंटिलेटर तैयार

वाशिंगटन। अमेरिका में वेंटिलेटरों की मांग बढ़ती जा रही है। इस सबके बीच टेक्सास स्थित राइस यूनिवर्सिटी ने हाथ में पकड़ा जाने वाला ऑटोमेटिक और सस्ता सांस लेने वाला यंत्र तैयार किया है। इसे 300 डॉलर से भी कम कीमत पर तैयार किया जा सकता है। उम्मीद है कि मरीजों को मुफ्त मुहैया हो सकेगा।