कैलहा पावर हाउस निर्माण में अड़ंगा

0
50
कैलहा पावर हाउस निर्माण में अड़ंगा – निर्माण कार्य का किसानों ने किया विरोध
मानिकपुर, चित्रकूट: मानिकपुर तहसील क्षेत्र के कैलहा में निमार्णाधीन विद्युत उपकेंद्र के निमार्ण में किसानों द्वारा विरोध करने से बखेड़ा खड़ा हो गया है। जिससे निमार्ण कायर् को रुकवा दिया गया। इसको गंभीरता से लेते हुए मौके पर पहुंचकर एमडी अमित प्रकाश ने मौके मुआयना किया।
मानिकपुर इलाके में बिजली आपूतिर् की व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए कैलहा गांव में 33/11 केवी  विद्युत उपकेन्द्र का निमार्ण कायर् विगत तीन वषोंर् से किया जा रहा है। जिसमें वन विभाग के एनओसी न प्राप्त होने के कारण कायर् नहीं हो पा रहा था। लेकिन एनओसी मिलने के बाद विगत एक माह पूवर् से कायर् की गति को सुचारू रूप से जारी रखा गया है एवं शीघ्र-अतिशीघ्र इन उपकेंद्र को चालू करने के लिए प्रयासरत हैं, लेकिन किसानों द्वारा अपनी फसलों के व खेत के नुकसान का हवाला देते हुए कैलहा उपकेंद्र सहित छोटी मड़ैयन, सेमरदहा, बहिलपुरवा गांव से होते हुए 220 केवी विद्युत उपकेंद्र सरैया तक निमार्ण कायर् में किसानों द्वारा विरोध करने से कायर् प्रभावित हो रहा है एवं कायर् को पूणर् कर पाना सम्भव नहीं हो पा रहा है। जिसके कारण कायर् में विलंब हो रहा है। इसको गंभीरता से लेते हुए कल एमडी ने विद्युत टीम के साथ निमार्णाधीन विद्युत उपकेंद्र का निरीक्षण किया और किसानों से रूबरू होकर उनकी समस्या का निस्तारण कराने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि यहां एक पावर हाउस तैयार किया जा रहा है। इस उपकेंद्र से आपूतिर् हो रही बिजली को कई खंडों में बांटने के इरादे से विभाग इलाके के गांवों में उपकेंद्र स्थापित करने की योजना बना रहा है। इसको लेकर विभाग ने निमार्ण कायर् कराना शुरू कर दिया है। लोगों की मानें तो प्रस्तावित स्थल पर गांव के लोगों का खलिहान और पेड़-पौधे हैं, जिन पर गांव के लोगों का कब्जा भी है। इसको लेकर ग्रामीणों ने विरोध किया है। अतिशीघ्र इसका हल निकाल लिया जाएगा। इस मौके पर विद्युत अधीक्षण अभियंता इं पीके मित्तल, अधिशाषी अभियंता इं आरएस वमार्, इं के के वमार्, इं अनिल दुबे आदि मौजूद रहे।