Homeबुन्देलखण्ड दस्तकस्कूल चलो अभियान के तहत अभिभावकों को किया बच्चों को स्कूल भेजने...

स्कूल चलो अभियान के तहत अभिभावकों को किया बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित

स्कूल चलो अभियान के तहत अभिभावकों को किया बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित

– मुख्यमंत्री ने श्रावस्ती से किया कार्यक्रम का शुभारंभ

चित्रकूट ब्यूरो: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ जनपद श्रावस्ती से किया। इस अभियान के अंतगर्त जनपद चित्रकूट के सभी 1,256 विद्यालयों में भी मुख्यमंत्री के द्वारा चलाए जा रहे स्कूल चलो अभियान का सीधा प्रसारण दिखाया गया। इसी क्रम में जनपद के इंग्लिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय चकजाफर विकासखंड पहाड़ी में जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव की अध्यक्षता में स्कूल चलो अभियान का सीधा प्रसारण दिखाया गया।
कायर्क्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव ने उपस्थित सभी शिक्षकों व अभिभावकों से कहा कि हम सभी की जिम्मेदारी है कि जहां बच्चा घूमता-फिरता मिले उसे स्कूल भेजें। उन्होंन अपील की कि जो स्नातक के युवक गांवों में रह रहे हैं, वह कुछ घंटे समय देकर अपने गांवों के स्कूलों में पढ़ाएं। अगर साक्षर परिवार गांवों में होते हैं, तो जनपद का नाम भी रोशन होगा। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने कहा कि एक बच्चे का मौलिक अधिकार है कि वह शिक्षा प्राप्त करें। इस पर हमें काफी मेहनत करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि शुरू में बहुत कम बच्चे होते हैं, जिनकी पढ़ने में अधिक रूचि होती है, उसे रुचिकर बनाना पड़ता है। अध्यापक की कुछ बातें होती हैं, जिसे बच्चा समझ नहीं पाता अगर आप उसे समझा लेते हैं, तो आपकों और बच्चें को संतुष्टि मिलती है। जोड़, घटाना आदि यह जिज्ञासा उनमें पैदा कीजिए, जिससे कि प्रत्येक बच्चे को पढ़ने का शौक हो जाए। फिर वह बालक स्कूल में आने लगता है। हमारा संकल्प होना चाहिए कि जो बच्चे स्कूल नहीं जाते, उनको स्कूल भेजें। हमे बच्चों में पढ़ाई के प्रति रूचि पैदा करनी होगी, तभी हम लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने कहा कि स्कूल आने से कोई भी बच्चा छूटने न पाए। इस कायर् को पूरा करने के लिए टीचरों को सवेर्सीट पहुंचाई गई है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को सवेर्सीट देकर उनका एक एरिया निधार्रित किया गया है, जहां वह अभिभावकों को बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करेंगे एवं डोर-टू-डोर जाकर बताएं। कहा कि जनपद स्तर पर बच्चों के शैक्षणिक गुणवत्ता का परीक्षण कराया जाए। ऐसे कायर् करेंगे तो एक महीने में रिजल्ट देखने को मिलेगा। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राजीव रंजन मिश्र ने बताया कि स्कूल चलो अभियान को हम लोगों पहले से चला रहे हैं। इसमें दो कायर् है, एक कायाकल्प एवं दूसरा गुणवत्ता। जनपद में कुछ कमी है, लेकिन कायर् गतिमान भी है। उन्होंने कहा कि कुछ बच्चे ऐसे भी हैं, जो कान्वेंट में पढ़ते थे, लेकिन बाद में नाम हटाकर परिषदीय विद्यालयों में लिखाये है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने जो लक्ष्य दिया है कि प्रति विद्यालय 20 बच्चों को नामांकन कराएं। इसमें सभी के सहयोग से लक्ष्य को प्राप्त कर पाएंगे। स्कूल चलो अभियान के अंतगर्त सम्मानित होने वाले ग्राम प्रधान जो कायाकल्प के अंतगर्त 19 पैरामीटर से संतृप्त होने वाले विद्यालय में योगदान दिए। उसमें सोना देवी ग्राम पंचायत बनकट, संगीता देवी ग्राम प्रधान पनौटी, अरुण कुमार ग्राम प्रधान  पिपरौध, गोमती देवी ग्राम प्रधान खंडेहा, गीता देवी ग्राम प्रधान सरैया एवं सवार्धिक नामांकन वृद्धि के कारण सम्मानित होने वाले अध्यापक रामनारायण पांडेय बगलई, पुष्पराज सिंह छेछरिय बुजुगर्, शिव कृपाल सिंह करौदी कला, गुलाब तिवारी कंपोजिट विद्यालय मनका, लक्ष्मी नारायण भौंरी एवं कक्षा पांच में विकासखंड स्तर पर सवार्धिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को भी पुरस्कृत किया गया। जिसमें आयुष सेहरा पुरवा, शीलू देवी भरकोरा, नितिन सिंह बालापुर, कुलदीप करौदी कला, आयुष कुमार मिश्र छिवलहा, प्रियांशु नया पुरवा आदि को मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव एवं जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार  शुक्ल ने सम्मानित किया। कायर्क्रम का संचालन शिक्षक साकेत बिहारी शुक्ल ने किया। इस अवसर पर ब्लाक प्रमुख पहाड़ी सुशील द्विवेदी एवं सभी खंड शिक्षा अधिकारी प्रधान एवं शिक्षक उपस्थित रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular