Homeबुन्देलखण्ड दस्तकनफरत की राजनीति से घर नहीं बसते, सिफर् उजड़ते हैं- दीपक पाण्डेय

नफरत की राजनीति से घर नहीं बसते, सिफर् उजड़ते हैं- दीपक पाण्डेय

नफरत की राजनीति से घर नहीं बसते, सिफर् उजड़ते हैं- दीपक पाण्डेय

चित्रकूट ब्यूरो: भारतीय आजाद मंच के राष्ट्रीय प्रवक्ता दीपक पाण्डेय ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि देश व प्रदेश में वतर्मान जिस प्रकार का साम्प्रदायिक मौहाल बनाया जा रहा है। ये देश की आंतरिक सुरक्षा के लिये भी चुनौती प्रस्तुत कर रहा है।
उन्होंने कहा कि भारत में सांप्रदायिकता का प्रयोग सदैव ही धामिर्क और जातीय पहचान के आधार पर हुआ है। राजनीतिक के माध्यम से समुदायों के बीच सांप्रदायिक घृणा, हिंसा, दंगों व भड़काऊ बयानबाजी के आधार पर विभाजन, मतभेद और भाईचारे, प्रेम को खत्म करके तनाव पैदा किया गया है। जिस हाथो में किताबे-पेन होनी चाहिए, उन्हें मजहब के नाम पर लड़ाने, हिंसा की आग में झोकने का काम किया जाता हैं। सांप्रदायिक, मजहबी हिंसा वोट बैंक की राजनीति को बढ़ावा देती है। मजहब के नाम प्रदेश के शहरों में हो रही धामिर्क हिंसा से लगता है कि राजनीतिक दशर्न के रूप में सांप्रदायिकता की जड़ें भारत की धामिर्क और सांस्कृतिक विविधता में मौजूद हैं। सांप्रदायिक हिंसा में पीड़ित परिवारों को इसका सबसे अधिक खामियाजा भुगतना पड़ता है, उन्हें अपना घर, प्रियजनों यहां तक कि जीविका के साधनों से भी हाथ धोना पड़ता है। विकास का असमान स्तर, वगर् विभाजन, गरीबी और बेरोजगारी आदि कारक सामान्य लोगों में असुरक्षा का भाव उत्पन्न करते हैं। उन्होंने सभी से अपील की कि सभी को अहिंसा के मागर् चलना चाहिए।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular