Homeबुन्देलखण्ड दस्तकगाँव के विकास से ही देश बनेगा विश्व गुरु: रविंद्र गौतम

गाँव के विकास से ही देश बनेगा विश्व गुरु: रविंद्र गौतम

गाँव के विकास से ही देश बनेगा विश्व गुरु: रविंद्र गौतम

– चित्रकूट के पाठा क्षेत्र में संजीवनी फाउंडेशन और रोटरी डिस्ट्रिक्ट है कायर्रत

चित्रकूट ब्यूरो: संजीवनी फाउंडेशन के संस्थापक रविंद्र गौतम पाठा क्षेत्र के निवासियों से संवाद कर उनसे उनकी दैनिक जीवन में आने वाली समस्याओं को सुन रहे हैं तथा उनको बेहतर जीवन जीने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। गाँव के बच्चों और उनके अभिभावकों को शिक्षा का महत्व समझा रहे हैं कि शिक्षा की बदौलत वो अपना, गाँव का और देश का भविष्य बदल सकते हैं, इसलिए बच्चों को विद्यालय पढ़ने के लिए भेजें।
ज्ञात हो कि पाठा क्षेत्र के बच्चे शिक्षा का महत्व नहीं समझते हैं और इसीलिए विद्यालय जाने से कतराते हैं और बड़े होकर मजदूरी करते हैं या रिक्शा चलाते हैं। गौतम का कहना है कि जब तक इनकी सोच में परिवतर्न नहीं आएगा तब तक न तो इनका विकास सम्भव है न गाँव का, इसीलिए निरंतर संवाद जरूरी है। बताया कि संस्था ने टिकुरी गाँव के निवासियों को रात्रि भोज भी कराया। जिसमें सभी को आलू-पूड़ी और हलवा परोसा गया। यह आयोजन एक बच्ची को सूखी रोटी खाते हुए देखने पर किया गया। इसके अलावा लोगों को दाल, सोयाबीन की बड़ियां, सैनिटेरी नैप्किन के साथ कपड़े भी बाँटे गये। इसी प्रकार ऊँचा डीह में भी अमरपुर गाँव में संस्था ने कुपोषण से लड़ने के लिए प्रोटीन युक्त दाल, सोयाबीन की बड़ियां और सैनिटेरी नैप्किन वितरित किये। अमरपुर के ही एक दुघर्टना में विकलांग हुये एक युवक को व्हील चेयर भी प्रधान की। संस्था ने महिलाओं को मासिक धमर् में स्वच्छता की उपयोगिता और सैनिटेरी नैप्किन के इस्तेमाल के लिए टिकुरी और अमरपुर में विडीओ कान्फरेंसिंग के द्वारा एक कायर्शाला आयोजित करायी और इसमें गाँव की महिलाओं ने भाग लिया और कहा इससे उनके जीवन में लाभ होगा। बताया कि उनकी टीम प्रत्येक माह 700 किलोमीटर की यात्रा तय करकर इन गावों में पहुँचते है और उनका कहना है कि गाँव के विकास के बिना देश का विकास सम्भव नहीं क्योंकि देश की अधिकतम जनसंख्या गावों में ही रहती है।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular