खरीफ अभियान-2022 की फसल उत्पादन की रणनीति सफल बनाने हेतु ब्लाक स्तरीय गोष्ठियों का आयोजन कराने के निर्देश

0
44

खरीफ अभियान-2022 की फसल उत्पादन की रणनीति सफल बनाने हेतु ब्लाक स्तरीय गोष्ठियों का आयोजन कराने के निर्देश

उरई (जालौन) जिलाधिकारी चांदनी सिंह ने बताया कि कृषि उत्पादन आयुक्त महोदय उ०प्र० शासन के शासनादेश के द्वारा खरीफ अभियान-2022 की फसल उत्पादन की रणनीति सफल बनाने हेतु ब्लाक स्तरीय गोष्ठियों का आयोजन कराने के निर्देश प्राप्त हुये है। उक्त के अनुपालन में किसानों को कृषि सम्बन्धी निवेशों एवं तकनीकी तथा लाभकारी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला कार्यक्रम निम्नवत आयोजित कराया जाना निर्धारित किया जाता है। उन्होंने बताया कि विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में अधिक से अधिक कृषकों की भागीदारी हेतु उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी पूर्णतय उत्तरदायी होंगे। खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेलों का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये। मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत कृषि निवेश मेला में कम से कम 50 से 100 महिलाओं की भागीदारी अनिवार्य रूप से करायी जाये। प्रत्येक विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेले में भाग लेने वाले किसानों में से कम से कम 25 किसानों से कृषि एवं पशुपालन नामक मासिक पत्रिका का वार्षिक सदस्यता शुल्क रू0-24/- प्राप्त करते हुये अनिवार्य रूप से सदस्यता शुल्क एवं सदस्यों की सूची उप कृषि निदेशक, जालौन कार्यालय को उपलब्ध करायेंगे। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में विकास खण्ड के अन्तर्गत सभी गावों के किसानों, कृषि, कृषि रक्षा, उद्यान, पशुपालन, रेशम, सहकारिता सिंचाई, विद्युत, एग्रो आदि विभागों के अधिकारियों, बैंकर्स एन०जी०ओ० एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक भाग लेंगे। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के दिन के कृषि संबंधी जानकारी के साथ विकास खण्ड के चयनित लाभार्थी कृषकों को फसल प्रदर्शन / किट / बीज मिनीकिट / कृषि उपकरण / किसान क्रेडिट कार्ड एवं अनुदान पर कृषि निवेश उपलब्ध कराया जाये। मेले में बीज / सूक्ष्म पोषक तत्व एवं जिंक आदि क्रय करने हेतु आने वाले कृषकों को राजकीय कृषि बीज भण्डार पर उपस्थित विशेषज्ञ / तकनीकी कर्मचारी द्वारा कृषि संबंधी जानकारी उपलब्ध करायी जाये। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों यथा मा० मंत्री मा० सांसद, मा० विधायक, मा० विधान परिषद सदस्य एवं मा० ब्लाक प्रमुख को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाये एवं उद्घाटन कराया जाये। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में ग्राम प्रधानों को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाये। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के आयोजन में विशेष रूप से कृषि विभाग, सहकारिता विभाग, एग्रो, पशुपालन विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, उद्यान विभाग, वन विभाग, पंचायती राज विभाग, मण्डी समिति, वैकल्पिक ऊर्जा विभाग, सिंचाई विभाग, नलकूप, विधुत विभाग, रेशम विभाग, खादी ग्रामोद्योग एवं अल्प बचत विभाग अपना-अपना स्टाल लगायेंगे एवं अपने विभाग से सम्बन्धित सामग्री / उपकरणों की कृषकों के प्रदर्शन एवं विक्री हेतु उपलब्ध करायेंगे। मेले में उन्नतिशील बीज, कृषि यंत्र, कृषि रक्षा उपकरण आदि पर विभागीय योजनाओं में देय अनुदान की सीमा तक निर्धारित लक्ष्यों के अनुरूप छूट अनुमन्य करायी जाये। कृषको को विभाग द्वारा निशुल्क उपलब्ध करायी जाने वाली सामग्री का वितरण किया जाये। इसके अतिरिक्त स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार अन्य विभागों की भागीदारी भी की जाये तथा समस्त विभागों की संचालित योजनाओं के अन्तर्गत लाभार्थियों के चयन की कार्यवाही की जाये। खरीफ गोष्ठी एवं किसान मेलो में कृषि निवेशों की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। यह सुनिश्चित किया जाय कि कृषि निवेश अनुदान व सस्ते मूल्य पर उपलब्ध हो और उनकी गुणवत्ता मानक स्तर की हो। कृषकों द्वारा क्रय की गई सामग्रियों की रसीद उन्हें अवश्य उपलब्ध करायी जाये। खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के आयोजन का प्रचार प्रसार क्षेत्रीय कर्मचारियों के माध्यम से किया जाये एवं विकास खण्ड स्तर पर कृषि निवेश मेलों के आयोजन की तिथि चस्पा की जाये। खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में कृषि विश्वविद्यालय, कृषि विज्ञान केन्द्र इफको कृमको इण्डोगल्फ आदि उर्वरक निर्माता कम्पनियों के प्रतिनिधि विशेषज्ञ के रूप में उपस्थित रहेंगे। उर्वरक कम्पनियां, बीज उत्पादक कम्पनियां, कृषि रक्षा रसायन उत्पादक कम्पनियां, कृषि विज्ञान केन्द्र तथा कृषि एवं कृषि से सम्बन्धित समस्त विभाग अपना स्टाल लगायेंगे एवं एक पंजिका रखेंगे, जिसमें कृषकों द्वारा अपने सुझाव अंकित किये जायेंगे। खरीफ गोष्ठी एवं विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में फसल अवशेष को जलाने से रोकने एवं फसल अवशेष का उपयोग करने तथा इस संबंध में मा० राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण के निर्देशों से कृषकों को परिचित कराया जाये।कृषि निवेश मेलों में कृषि से सम्बन्धित सहयोगी विभाग के जनपद स्तरीय अधिकारी अनिवार्य रूप से भाग लें। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में यू०पी० एग्रो बीज विकास निगम, बीज प्रमाणीकरण संस्थान, कृषि उपकरण बनाने वाली कम्पनिया भी अपना स्टाल लगायेंगी। साथ ही जनपद के आत्मा के समूह, एन०जी०ओ० तथा कृषि से सम्बन्धित अन्य कम्पनिया अपने उत्पाद के स्टाल लगायेंगी। कृषि विभाग द्वारा चलायी जा रही आत्मा योजनान्तर्गत फार्म स्कूलों के एचीवर कृषकों की सहभागिता सुनिश्चित की जाये ताकि यह मेले में अपने अनुभवों को अन्य कृषकों के साथ बाँट सकें। कृषि निवेश मेला में कृषकों द्वारा पूछे गये प्रश्नों तथा उनके दिये गये उत्तरों का सकलन किया जाय। मेलों के आयोजन में समस्त विभागों के प्रमुख एवं विशेषज्ञ पहुँचकर जानकारी देगें। कृषि निवेश मेला में प्रशिक्षण हेतु कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों को आमंत्रित किया जाये। कृषि निवेश मेला में लीड बैंक अधिकारी व डी०डी०एम० नाबार्ड कृषि ऋण शिविर अनिवार्य रूप से लगवायेंगे एवं कृषकों को किसान क्रेडिट कार्ड के विषय में जानकारी उपलब्ध करायेंगे तथा किसान क्रेडिट कार्ड भी वितरण कराया जाये। विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी निःशुल्क पशु परीक्षण शिविर के माध्यम से जानकारी एवं स्थलीय परीक्षण भी अनिवार्यतः रूप से करायेंगे।विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांतर्गत आकस्मिक क्षतिपूर्ति हेतु एक व्याख्यान रखा जाये।विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के सफल आयोजन हेतु उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी पूर्ण उत्तरदायी होंगे। उन्होंने विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के आयोजन हेतु निर्धारित तिथियों के बारे में बताया कि विकास खण्ड कोंच में दिनांक 06.07.2022 को विकास खण्ड परिसर कोंच, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कोंच, विकास खण्ड कदौरा में दिनांक 07.07.2022 को विकास खण्ड परिसर कदौरा, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कालपी, विकास खण्ड जालौन में दिनांक 07.07.2022 को कृषि विज्ञान केंद्र रूरा मल्लू(जालौन), नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जालौन, विकास खण्ड नदीगांव में दिनांक 08.07.2022 को ग्राम रवा विकास खण्ड नदीगांव, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कोंच, विकास खण्ड कुठौंद  में दिनांक 11.07.2022 को विकास खण्ड परिसर कुठौंद, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जालौन, विकास खण्ड महेवा में दिनांक 11.07.2022 को का० उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कालपी परिसर, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कालपी, विकास खण्ड माधौगढ़ में दिनांक 19.07.2022 को राजकीय कृषि बीज भण्डार माधौगढ़, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जालौन, विकास खण्ड डकोर में दिनांक 19.07.2022 को विकास खण्ड परिसर डकोर, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी उरई, विकास खण्ड रामपुरा में दिनांक 20.07.2022 को विकास खण्ड परिसर रामपुरा, नोडल अधिकारी उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जालौन में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विकास खण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेला के आयोजन की समस्त व्यवस्थायें सम्बन्धित उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन (आत्मा) योजना अन्तर्गत किसान गोष्ठी मद तथा कृषि सूचना तंत्र के सुदृढीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम योजना अंतर्गत किसान मेला मद से करेंगे। मेले के आयोजन के उपरान्त किसानों की समस्याओं का संकलित विवरण एवं कार्यवृत्त उप कृषि निदेशक, जालौन स्थान उरई को उपलब्ध करायेंगे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक
#जिलाधिकारीजालौन #जिलाअधिकारीचित्रकूट
#dmjalaun #dmchitrkut