लापरवाही:बिजली का पोल टूटकर तारों पर अटका, शिकायत पर भी नहीं हो रही सुनवाई, ग्रामीणों के जीवन से हो रहा खिलवाड़।।

0
65

लापरवाही:बिजली का पोल टूटकर तारों पर अटका, शिकायत पर भी नहीं हो रही सुनवाई, ग्रामीणों के जीवन से हो रहा खिलवाड़।।

रामपुरा :- कस्बे में बिजली विभाग द्वारा रखरखाव के नाम पर आए दिन खाना पूर्ति कर ली जाती है, लेकिन क्षेत्र में स्थिति जस की तस बनी हुई है। जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है।

नगर के वार्ड नंबर 1 में विद्युत पोल रुकसाना के दरवाजे टूटा हुआ केवलो के सहारे खड़ा हुआ है। जिसके कारण कभी भी तेज हवाओं के चलते ये टूट हुआ विद्युत पोल राहगीरों व पास बने घरों के ऊपर गिर जाने से काफी नुकसान पहुँचा सकता हैं। पोल को टूटे कई दिन हो चुके हैं। विभाग के कर्मचारियों को भी इस समस्या से रूबरू कराया जा चुका हैं। लेकिन अभी तक बिजली विभाग द्वारा कोई जिम्मेदारी दिखाने का काम नहीं किया गया है। वही इस क्षतिग्रस्त पोल से लगभग 50 मीटर की दूरी पर सैयद बाबा मजार पर लगभग एक वर्ष पूर्व टूट चुके बिजली के पोल को विभाग द्वारा नहीं खड़ा किया गया। बिजली की केबलों को वही पास खड़े नीम के पेड़ से बांध दिया गया। जो अभी तक ज्यो की त्यों हैं। जबकि कई बार विभाग से इसकी शिकायत की गई।लेकिन विभाग के जिम्मेदार कर्मचारियों के कानों पर जू नहीं रेंगा।अटका दिया है जिसकी लाइन रोड के उक्त मुहल्ले में ऊपर से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में लोग उधर से तारों के नीचे से गुजरते हैं, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इतना ही नहीं, इन तारों में करंट प्रवाह भी होता है। जिसकी सुध अभी तक बिजली विभाग द्वारा नहीं ली गई।

बिजली विभाग की ओर से आए दिन शट डाऊन लेकर रखरखाव का कार्य करवाया जा रहा है, लेकिन क्षेत्र में स्थिति जस की तस बनी हुई है। जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है इस बढ़ी समस्या को लेकर मुख्यमंत्री पोर्टल पर काफी समय पहले शिकायत दर्ज करायी गयी। लेकिन इस पोल को अभी तक नहीं बदला गया है। इस वजह से आवागमन करते समय हादसा होने का डर बना रहता है। पेड़ से बंधी ग्यारह हजार की केविल कभी भी एक बड़े हादसे को न्योता दे सकती है।
बिजली विभाग के एसडीओ अमिषेक सोनकर ने कहा कि जेई अमित शर्मा से कह कर इस गंभीर समस्या को समय रहते दुरुस्त करने के कहा जायेगा। जिससे समय रहते बड़ी दुर्घटना को टाला जा सके।