उपभोक्ता हितो को ध्यान में रखकर पावर कारपोरेशन चला रहा ‘विद्युत विभाग आपके द्वार’ अभियान

0
97

लखनऊ:- मुख्यमंत्री की मंशानुरूप प्रदेश का विद्युत विभाग लगातार उपभोक्ताओं को अधिक से अधिक सुविधा देने के लिये प्रयासरत है। उपभोक्ताओं के हितों को ध्यान में रखकर सितम्बर माह से पूरे प्रदेश में ‘विद्युत विभाग आपके द्वार’ अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के सफल एवं प्रभावी क्रियान्वयन हेतु मुख्यालय स्तर से आज 193 नोडल अधिकारी नामित किये गये। जिसमें निदेशक (वित्त/आई0टी0/वाणिज्य/वितरण) सहित मुख्य अभियन्ता, अधीक्षण अभियन्ता, अधिशासी अभियन्ता तथा सहायक अभियन्ता स्तर तक के अधिकारी शामिल है।

अभियान को और प्रभावी बनाने के लिए निगम मुख्यालय से 193 अधिकारी बनाए गए नोडल

नोडल अधिकारी 21 से 24 सितम्बर तक मीटर रीडर के साथ क्षेत्र के भ्रमण पर रहेंगे
– ऊर्जा मंत्री ए.के. शर्मा

ऊर्जा मंत्री ए.के. शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि उ0प्र0 पावर कारपोरेशन और अन्य वितरण निगम प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए उपभोक्ताओं की विद्युत आपूर्ति मीटरिंग, बिलिंग तथा राजस्व संग्रह में आ रही समस्याओं एवं कठिनाइयों के संज्ञान हेतु ‘विद्युत विभाग आपके द्वार अभियान’ चला रहा है। यह अभियान नवम्बर तक चलेगा। इसको और प्रभावी बनाने हेतु शक्ति भवन मुख्यालय से अधिकारियों को प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर भेजा जा रहा है। नामित अधिकारी 21 से 24 सितम्बर,2023 तक फील्ड में रहेंगे और 29 सितम्बर को अपनी भ्रमण से सम्बन्धित आख्या मुख्यालय को प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने अभियान को धरातल पर उतारने के सख्त निर्देश दिए।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अभियान को सफल बनाने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देष दिए किये गये है। जिसमें कहा गया है कि बिलिंग की गुणवत्ता में सुधार लाने के उद्देश्य से मीटर रीडिंग हेतु मीटर रीडर के साथ मीटर रीडिंग करने के लिए विभागीय कार्मिक एवं अधिकारी भी रहेंगे। यदि उपभोक्ता की सही रीडिंग बिलिंग सिस्टम में आ जायेगी, तो गलत बिलिंग की शिकायत लगभग स्वतः समाप्त हो जायेगी। मीटर रीडिंग करने के साथ-साथ उपभोक्ता से बिलिंग सम्बन्धी जानकारी, के0 वाई0 सी0, मीटर परिसर के अन्दर लगा है अथवा बाहर। मीटर उचित ऊँचाई पर लगा है या नही। मीटर रीडिंग लेने में कोई अड़चन तो नही होती अभियान के दौरान यह सब देखा जायेगा।

ए.के. शर्मा ने कहा कि नामित अधिकारी एवं कार्मिक तीन दिन मीटर रीडर के साथ रीडिंग करेंगे। इसके अतिरिक्त नामित सहायक अभियन्ताओं द्वारा 88 हाई पोटेंशियल विद्युत वितरण खण्डों में 11के0वी0 फीडरों पर फीडर मीटर की कार्यरत होने की स्थिति, 50 कि0 वा0 से अधिक भार वाले उपभोक्ताओं की डबल मीटरिंग की स्थिति, 10 कि0 वा0 से अधिक भार वाले उपभोक्ताओं की एम0 आर0 आई0 एक्सेप्शन पर खण्डों द्वारा की जा रही कार्यवाही की स्थिति, औद्योगिक फीडर, स्वतन्त्र फीडर की टैगिंग, लाइन हानियों की स्थिति तथा टैम्पर्ड मीटरों के विरूद्ध राजस्व निर्धारण की स्थिति आदि का भी अनुश्रवण किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि मीटर रीडर के साथ जो विभागीय कार्मिक मीटर रीडिंग करने जा रहे है उसका धरातल पर लाभ दिखाई पड़ रहा है। अभी तक अभियान के अन्तर्गत सहारनपुर में 11 मेगावाट विद्युत भार बढ़ाया गया तथा डेढ़ लाख स्टोर रीडिंग पकड़ी गयी। इसी तरह मुरादाबाद में 40 मेगावाट लोड बढ़ाया गया। मेरठ में 32 मेगावाट लोड बढ़ाया गया और 2.25 लाख यूनिट स्टोर मिली। बुलन्दशहर में लगभग 65 हजार स्टोर यूनिट मिली। गाजियाबाद में 14 मेगावाट की भार वृद्धि हुई। इसी तरह आजमगढ़ में एक लाख यूनिट स्टोर रीडिंग मिली और 02 मेगावाट लोड बढ़ाया गया।