प्रदेशीय आशा वर्कर यूनियन ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को सौपा।।

प्रदेशीय आशा वर्कर यूनियन ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को सौपा।।

उरई (जालौन)।उत्तर प्रदेश आशा वर्कर यूनियन एवं ट्रेड यूनियंस (एक्टू) के प्रदेशीय ने का. रामसिंह चौधरी, का. राजीव कुशवाहा, आशा वर्कर यूनियन की अध्यक्ष राजकुमारी सिंह एवं सचिव रमा चौहान के नेतृत्व में दर्जनों महिलाएं कलेक्ट्रेट पहुंच और प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को भेंट करते हुए बताया कि अल्प और अपमानजनक कथित प्रोत्साहन राशियों का कभी भी समय से और नियमित नहीं होता है।उन्होने बताया कि अधिकांश आशा, संगिनी के भुगतान लंबित है तथा राज्य वित से दी जाने वाली प्रतिपूर्ति राशि 1500 मासिक का कही 1.5 वर्ष में तो कहीं 01 वर्ष तो कहीं 4 से 6 माह का बकाया है।आशा वर्कर महिलाओं का कहना है कि यदा-कदा जो मिलता है उसका पता ही नहीं चलता है कि क्या दिया जा रहा है।क्योकि भुगतान में कोई निरंतरता और पारदर्शिता नहीं है।उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से बकाया भुगतान करवाये जाने की मांग शासन से उठाई है।