25 दिसम्बर को सुशासन दिवस के रूप में मनाये जाने के सम्बन्ध में तैयारियों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में सम्पन्न हुई।

जिलाधिकारी डा0 मन्नान अख्तर की अध्यक्षता में ब्लाक स्तर पर पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व0 श्री अटल बिहारी बाजपेई का जन्मदिवस 25 दिसम्बर को सुशासन दिवस के रूप में मनाये जाने के सम्बन्ध में तैयारियों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में सम्पन्न हुई।

उरई दिनांक 22 दिसम्बर 2020 दिनांक 25.12.2020 को पूर्वान्ह 10ः30 बजे पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व0 श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी की जयन्ती के अवसर पर जनपद के समस्त विकास खण्डों में कार्यक्रम आयोजित कराये जाने के संबंध में जिलाधिकारी डा0 मन्नान अख्तर द्वारा बताया है कि दिनांक 25.12.2020 को पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व0 श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी की जयन्ती के अवसर पर सुशासन दिवस मनाये जाने हेतु प्रत्येक विकास खण्ड स्तर पर कृषि मेला, गोष्ठी/प्रदर्शनी एवं मा0 प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण एल0ई0डी0/प्रोजेक्टर के माध्यम से कराये जाने का निर्णय लिया गया हैं। उन्होने बताया कि प्रत्येक विकास खण्ड में 500-500 कृषकों को प्रतिभाग कराया जायेगा, जिसमें उद्यान एवं पशुपालन से 50-50 कृषक भी प्रतिभाग करेगे, गोष्ठी का कार्यक्रम पूर्वान्ह 10ः30 से 11ः45 तक सम्पन्न होगा जिसमें प्रदेश में क्रियान्वित की जा रही योजनाओं तथा सरकार की उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी जायेगी तथा मा0 प्रधानमंत्री भारत सरकार द्वारा मध्यान्ह 12ः00 बजे कृषकों को आॅनलाइन सम्बोधित किया जायेगा इस आयोजन हेतु कृषकों के बैठने की व्यवस्था विकास खण्ड/अन्य चयनित स्थल पर (कोविड प्रोटोकाल के अनुसार) की जायेगी तथा मा0 प्रधानमंत्री जी के उद्बोधन के सजीव प्रसारण को देखने हेतु गोष्ठी में एक एल0ई0डी0/प्रोजेक्टर की व्यवस्था की जायेगी। इन आयोजनों में प्रभारी मंत्री जी/मा0 सांसद, विधायक व जनप्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेगे। कार्यक्रम व्यवस्था हेतु नामित कर्मचारी खण्ड विकास अधिकारी से सम्पर्क स्थापित कर दिनांक 25.12.2020 के कार्यक्रम की समस्त व्यवस्थायें करना सुनिश्चित करें तथा कार्यक्रम आयोजन पर होने वाले व्यय से सम्बन्धित बिल/बाउचर समस्त औपचारिकतायें पूर्ण करते हुये जिला कृषि अधिकारी जालौन स्थान उरई के कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इस कार्यक्रम में कोविड से बचाव हेतु निर्देशों का कड़ाई के साथ अनुपालन करना होगा, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग से बैठने, मास्क पहनने की अनिवार्यता, सेनिटाईजेशन/हाथ धोने की उचित व्यवस्था की जाये।