बाढ़ ग्रस्त पंचनद क्षेत्र का मंडलायुक्त ने किया औपचारिक दौरा

0
12


किसी ग्रामीण से मिले बगैर जुहीखा पुल से लौटा अधिकारियों का कारवां
चंबल सिंध नदी में बाढ़ से यमुना का जलस्तर और अधिक बढ़ने की संभावना

रामपुरा, जालौन। जगम्मनपुर,राजस्थान में चंबल व मध्य प्रदेश में सिंधु नदी के बढ़ते जलस्तर से पंचनद की यमुना नदी में पानी तेजी से ऊपर की ओर उठ रहा है। बाढ़ की विकरालता के मद्देनजर मंडल आयुक्त झांसी सहित जिला के सभी आला अधिकारियों ने जगम्मनपुर क्षेत्र का दौरा कर बाढ़ से धन जन हानि बचाने हेतु की गई तैयारियों की अधीनस्थों व स्थानीय अधिकारियों कर्मचारियों से जानकारी ली।
माधौगढ़ तहसील अंतर्गत विकासखंड रामपुरा के पंचनद जहां पांच नदियों के संगम होता है वहां चंबल नदी एवं सिंध नदी के पानी का प्रबल वेग तटवर्ती ग्रामीणों के लिए संकट का कारण बना हुआ है। ज्ञात हो कि गत वर्ष उक्त नदियों की बाढ़ ने पिछले 100 वर्ष के रिकॉर्ड तोड़ दिए थे, इस कारण लगभग 30 गांव पूरी तरह से प्रभावित हुए थे एवं जनहानि भी हुई थी। बाढ ग्रस्त गावों में खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए स्टीमर, मोटरवोट अथवा हेलीकॉप्टर की मदद ली गई एवं अनेक गांवों को खाली करवाकर राहत शिविरों में पहुंचाया गया। इस वर्ष भी लगभग 10 गांव बाल से बाढ़ के पानी से पूरी तरह से गिर गए हैं एवं बीस गांव ऐसे हैं जो पानी और बढ़ने पर पूरी तरह बाढ़ की चपेट में आ सकते हैं । बाढ पीडितों की सुरक्षा लिए उपजिलाधिकारी माधौगढ़ अंगद सिंह,क्षेत्राधिकारी डा. देवेन्द्र कुमार, खंड विकास अधिकारी रामपुरा ओम प्रकाश द्विवेदी, थानाध्यक्ष रामपुरा राजीव वैस सहित थाने का समस्त पुलिस वल निरंतर बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का दौरा कर जनहानि के खतरे से बचाने हेतु ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की व्यवस्था कर रहे हैं । बाढ़ पीड़ितों को राहत देने हेतु विकासखंड रामपुरा क्षेत्र में 2 राहत शिविर बनाए गए हैं जिसमें रामपुरा नगर में रामदत्त द्विवेदी महाविद्यालय एवं जगम्मनपुर में श्री राजमाता वैश्नी जू देव इंटर कॉलेज में बनाए गए राहत शिविर में बाढ़ पीड़ितों को आपदा काल में दैनिक जरूरत की पूर्ति की पूर्ण व्यवस्था की गई है एवं क्षेत्र में 7 बाढ चौकियां बनाई गई जहां जिलाधिकारी जालौन चांदनी सिंह ने एनडीआरएफ की टीमों के साथ आई मोटर बोट के अतिरिक्त 10 मोटर बोट की व्यवस्था की है ताकि किसी भी समय बाढ़ ग्रस्त गांव के लोगों को राहत पहुंचाने के लिए अथवा रेस्क्यू के लिए उनका उपयोग किया जा सके।
बाढ़ ग्रस्त इलाके का दौरा करने आए मंडलायुक्त झांसी संजय गोयल ने किसी बाढ़ ग्रस्त गांव में गए बगैर जगम्मनपुर के पास जूहीखा पुल से यमुना नदी के प्रबल बाढ़ का नजारा देखा तदोपरान्त पंडित परशुराम द्विवेदी महाविद्यालय जगम्मनपुर में अधिकारियों के साथ बैठक कर गत वर्ष की बाढ़ की स्थिति एवं वर्तमान बाढ़ से निपटने की तैयारियों पर चर्चा की एवं आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला अधिकारी जालौन चांदनी सिंह, पुलिस अधीक्षक रवि कुमार, मुख्य विकास अधिकारी जालौन, उप जिलाधिकारी माधौगढ़ अंगद सिंह यादव , क्षेत्राधिकारी डॉक्टर देवेंद्र कुमार, थानाध्यक्ष रामपुरा, एसएचओ माधौगढ़ सहित अनेक अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।