मूलभूत सुविधाओं से वंचित है कपड़िया बस्ती, सड़क व नाला हैं ध्वस्त,ब्लाक प्रमुख रामनगर का आश्वासन निकला खोखला

0

तुलसी धाम राजापुर। चित्रकूट- विकास खण्ड रामनगर अन्तर्गत राजापुर कस्बे के मध्य ग्राम पंचायत भभेंट व ग्राम पंचायत पराकों की सीमा से लगे होने के कारण मजरा मझगवाँ जो अपनी मूलभूत सुविधाओं से वंचित रहकर विकास के लिए आँसू बहा रहा है तथा शासन – प्रशासन की उपेक्षा का शिकार हो रहा है।

नगर पंचायत से सटे ग्राम पंचायत भभेंट के मजरा मझगवाँ थाने के पास कपड़िया बस्ती के गरीब लोग निवास करते हैं तथा आवागमन के लिए यही एक मुख्य मार्ग है। पूर्व में सन 2000 में तत्कालीन ग्राम प्रधान पराकों दिनेश गोस्वामी के द्वारा थाने से लेकर कुसिया पुरवा तक के लिए सीसी रोड का निर्माण कराया था।

20 वर्ष पूर्ण होने के बाद आज तक किसी भी जनप्रतिनिधि ने इस रोड के लिए न तो धन दिया और न ही अपनी नजर नियायत की। इस बस्ती में दलित , मुस्लिम एवं पिछड़े वर्ग के लोग निवास करते हैं। बरसात के समय यह आलम हो जाता है कि लोगों का निकलना दूभर हो जाता है तथा सारे लोगों का व्यापार , रोजी रोटी बन्द हो जाती है। उक्त रोड के लिए कई बार जिला प्रशासन , शासन तथा बीडीओ रामनगर को शिकायती प्रार्थना – पत्र पर रामनगर ब्लाक के ब्लाक प्रमुख बालमुकन्द पाण्डेय ने आकर स्थलीय निरीक्षण करते हुए ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि क्षेत्र पंचायत निधि से उक्त मार्ग एवं नाले का निर्माण कराया जाएगा लेकिन आज तक कोई भी निर्माण कार्य नहीं कराया गया और कोरा आश्वासन ही साबित हुआ।

पुनः ग्रामीणों ने इस विकराल समस्या से निजात पाने की माँग किया है। इस मोहल्ले के बलराज , प्रह्लाद , जौहरी , जोगी सोनकर , लक्ष्मी सिंह पटेल , मदार कुरैसी , श्रीपाल यादव , हीरालाल सोनकर आदि लोगों ने बताया कि थाना राजापुर से सटे एक नाले का निर्माण कराया गया था लेकिन आज वह नाला पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है और पानी की निकासी के लिए कोई व्यवस्था नहीं है।

इसीलिए बरसात का पानी लोगों के कच्चे घरों में घुसकर घर गृहस्थी को नष्ट कर देता है और सड़क पूर्णरूपेण गड्ढों में तब्दील हो गई है। जबकि उ०प्र० सरकार के लोक निर्माण विभाग के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य की घोषणा गड्ढा मुक्त जैसी योजनाएँ धड़ाम हो रही हैं तथा अधिकारी , कर्मचारी , जनप्रतिनिधि इस घोषणा का मजाक उड़ा रहे हैं और गरीबों की ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस बस्ती के अनेक लोगों ने जिलाधिकारी चित्रकूट से माँग किया है कि सड़क एवं पानी की निकासी के लिए नाले का निर्माण होना अत्यन्त आवश्यक है।