जौनपुर जिले में हुई कोरोना संक्रमण से पहली मौत, प्रशासन में मचा हड़कंप

0

जौनपुर:- जनपद में कोरोना संक्रमित मरीज के मौत की पहली घटना अब सामने आ गयी है। मरीज मुम्बई से संक्रमित होकर हो कर जनपद की सीमा मुंगराबादशाहपुर के सार्वजनिक इन्टर कालेज में बनाये गये शेल्टर होम में पहुँचने के 24 घन्टे के अन्दर युवक की जीवन लीला कोरोना ने लील लिया है। वह अपने घर भी नहीं पहुंच सका। युवक के मौत की सूचना पर घर में कोहराम मच गया परिजन सहित जिला प्रशासन के अधिकारी भी शेल्टर होम मुंगरा बादशाहपुर पहुंच गये और मौत के कारणों का पता लगाया।

मिली खबर के अनुसार प्रदीप कुमार पुत्र पूर्णमासी 35 साल निवासी नाथूपुर थाना क्षेत्र जफराबाद मुम्बई कपड़े की मिल में काम करता था। उसकी तबीयत गत एक सप्ताह पहले से खराब थी उसे एक बार तो रेलवे ने वापस कर दिया था ट्रेन में बैठने की अनुमति नहीं दिया पुन: दवा आदि खाकर मुम्बई से प्रयागराज को आने वाली श्रमिक ट्रेन में सवार हो गया प्रदीप की हालत ठीक नहीं थी वह प्रयागराज से जरिये बस 14 मई को जौनपुर स्थित मुंगराबादशाहपुर सरकारी शेल्टर होम सार्वजनिक इन्टर कालेज में क्वारंटाइन किया गया आज 15 मई को सुबह उसकी हालत बिगड़ी और काल के गाल में समा गया ।

घटना की सूचना पर सरकारी महकमों में हड़कंप मच गया आनन फानन में जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौका ए वारदात पर पहुंच गये और मृतक के साथ आये एक सम्बन्धी से पूरे मामले की जानकारी किया और लाश के पीएम का निर्देश दिया। मृतक के परिजन भी सूचना मिलने पर मुंगराबादशाहपुर शेल्टर होम पहुंचे।

इस तरह मरीज आया तो बाहर से लेकिन उसकी मौत जौनपुर की सीमा मुंगराबादशाहपुर में बनाये गये शेल्टर होम में हुईं है । इस घटना ने जहां प्रशासन में हड़कंप मचा दिया है वही जनपद वासी भी दहशत जदा हो गये है।