जालौन के कंजोस व जुहीखा ग्रामो से सटी इटवा-औरैया की सीमा- सील, पुलिस के द्वारा रखी जा रही है निगरानी आने जाने वाले लोगो से पूछताछ के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है

जालौन- जगम्मनपुर चौकी के अंतर्गत आने वाले दो बॉडर को पुलिस ने सील कर रखा हैं सील जिलों की सीमा के बावजूद बाहर से आने वालों पर प्रभावी अंकुश के लिए सख्ती बढ़ा दी गई है। कोरोना महामारी को लेकर पुलिस स्टॉफ काफी शतर्क है बहार से आने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ की जाती है उनका नाम पता नोट किया जाता है जगम्मनपुर चौकी इंचार्ज भगतसिंह बौद्ध ने बताया जिनके पास पास है उनको निकलने दिया जाता है बाकी केवल किसान जो खेत काट रहे है, उनका नाम पता लिख कर रख लिया जाता है जिससे शाम को वापस आते समय उनको कोई दिक्कत ना हो और उनके आने-जाने का समय निर्धारित है व बहार से अगर कोई व्यक्ति जुहीखा व कंजोसा से होते हुए जालौन जिला की सीमा में प्रवेश करता है वह अगर जनपद का होता है तो उनका नाम पता नम्बर लिख कर रामपुरा csc भेज दिया जाता है व बहार से आने वाले जनपद के लोगो को क्वारन्टीन किया जा रहा है अगर कोई अन्य जनपद का बहार से आता है तो उसके खाने पीने की वयस्था की जाती है जिसके वह भूखा ना रहे, पास के जिलों में कोरोना के मरीज मिलने की सूचना के बाद सीमाओ पर और सख्ती दिखाई दे रही है रामपुरा थाना अध्यक्ष आर के सिंह बॉडर व बॉडर सटे ग्रामो जाकर निरीक्षण करते रहते है शनिवार की शाम जुहीखा के बॉडर व आस- पास के ग्रामो में जाकर की वहां की स्थिति की जानकारी ली , व उपनिरीक्षक भगतसिंह बौद्ध के द्वारा कंजोसा पुल पर चेकिंग निंरन्त चैकिंग लगाई जा रही है जिसमे बहार से आने वाली गाड़ियों से पूछताछ की जाती है जिनके पास पास होता है उनको ही आने दिया जाता है दोनों बॉडर पर पुलिस स्टाफ मौजूद रहता है व शनिवार की शाम से अन्य किसी को भी जनपद सीमा में प्रवेश नही करने दिया जा रहा है केवल किसान व ऑन ड्यूटी वाले लोगो को छोड़कर किसी को सीमा के अन्दर  प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है दिन में व रात के समय भी स्टाफ दोनों बॉडर पर मौजूद रहता है