काशीवासियों से मिलकर ऊर्जा मिलती है: पीएम मोदी

0

पीएम पहुंचे बाबा दरबार, विधि विधान से की पूजा अर्चना

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बटन दबा कर सिक्स लेन का लोकार्पण किया। 73 किलोमीटर का यह मार्ग प्रयागराज व वाराणसी को जोड़ेगा। दिसंबर 2014 से इस मार्ग का निर्माण कार्य शुरू किया गया था। खुजरी की जनसभा के बाद अब प्रधानमंत्री गंगा उस पार डोमरी स्थित भगवान अवधूत राम घाट पहुंचे। इसके बाद क्रूज से विश्वानाथ मंदिर कारिडोर पहुंच कर बाबा विश्वनाथ की पूजा की और अब जल मार्ग से राजघाट पहुंच रहे हैं। यहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीप जलाकर देव दीपावली का शुभारंभ किया। इसके साथ ही शिव आराधना के साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू हो गया।

अलकनंदा क्रूज पर सवार होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ललिता घाट पहुंचे। अब श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कारिडोर का निरीक्षण कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कारिडोर के रास्ते में विश्वनाथ मंदिर और काशी से जुड़े कुछ विशिष्टजनों से मुलाकात भी किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के बाद पूजन कर रहे हैं। मंदिर गर्भगृह में विधि विधान से बाबा की पूजा-अर्चना की। दूध-जल से अभिषेक के साथ ही षोडशोपचार पूजन किया और आरती उतारी। देश के प्रतिनिधि के तौर प्रधानमंत्री ने देश के लिए मंगल कामना की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्हें स्मृति चिह्न भेंट किया। साथ ही पचास हजार वर्ग मीटर में आकार ले रहे विस्तारीकरण व सुंदरीकरण परियोजना के बारे में जानकारी दी। पीएम ने कारिडोर क्षेत्र में बन रहे भवनों का निरीक्षण किया। स्तंभों पर उकेरी गई नक्काशी को ध्यान से देखा। डाक्यूमेंट्री के जरिए भी विस्तारीकरण व सुंदरीकरण परियोजना की प्रगति से रूबरू हुए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरी पहली जनसभा पहले जब यहां पर हुई थी तब यह चार लेन का था अब यह सिक्स लेन का हो गया। इससे सिक्स लेन के बनने से यातायात की सुविधा बेहतर होगी। काशी व प्रयाग राज के बीच आना जाना और आसान हो गया। कांवरियों को सुविधा होगी इससे कुंभ के दौरान भी लाभ मिलेगा। बेहतर मार्ग होने से पर्यटकों को काफी लाभ होगा। सड़क निर्माण से विकास का पहिया भी तेज हो जाता है।