समायोजन रद्द होने के बाद एक-एक दाने को मोहताज हैं शिक्षामित्र : मीता करवरिया

0

शिक्षामित्रों ने लोक निर्माण राज्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन

चित्रकूट- जिले के करीब एक दर्जन शिक्षामित्रों ने शिक्षा मित्र संघ की अध्यक्ष मीता करवरिया के नेतृत्व में प्रदेश सरकार के लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय से उनके आवास पर मिलकर अपनी समस्याएं बताई और ज्ञापन दिया. सौंपे गए ज्ञापन में शिक्षामित्रों ने अवगत कराया कि 2017 में समायोजित हुए शिक्षामित्रों का समायोजन सरकार द्वारा रद्द किए जाने के बाद तमाम शिक्षामित्र अवसाद में चले जाने के कारण लगभग 3,000 अपनी जिंदगी समाप्त कर चुके हैं।

मृतक आश्रित शिक्षामित्रों का परिवार एक-एक दाने को मोहताज है, शिक्षामित्रों ने मांग किया है कि मृतक आश्रित शिक्षामित्रों के परिवारों को मुआवजा दिया जाए और उनके घर से एक व्यक्ति को स्थाई नौकरी दी जाए ,ज्ञापन में आरटीई 2009 के तहत 124000 पैरा टीचर्स को अपग्रेड करते हुए पूर्ण शिक्षक का दर्जा दिया जाए और उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा नियमावली के तहत वेतनमान लागू किया जाए।

इसके अलावा टीईटी उत्तीर्ण शिक्षामित्रों को बिना लिखित परीक्षा दिए उम्र और अनुभव का भारांक देकर पूर्ण शिक्षक का दर्जा दिया जाए ज्ञापन लेने के उपरांत लोक निर्माण राज्यमंत्री ने शिक्षामित्रों को भरोसा दिया है कि वह उनकी मांगों को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष रखेंगे और जो समस्याएं हैं उनका निराकरण कराने के लिए मुख्यमंत्री से प्रमुखता के साथ निवेदन करेंगे, ज्ञापन देने वालों में मिथिला पांडेय शकुन गोस्वामी नंदकिशोर दीक्षित बृजेश पांडेय आराधना पांडेय मीना शुक्ला सीमा सिंह लक्ष्मी देवी आदि मौजूद रहे।