UP में 95 फीसदी जमातियों की पहचान का दावा, 300 से अधिक क्वारनटीन

0
यूपी सरकार ने दावा किया है कि मरकज की जमात में शामिल हुए 95 फीसदी लोगों की पहचान कर ली गई है. यूपी के 19 जिलों में अलर्ट है. कई शहरों की मस्जिदों में पनाह लेने वाले जमातियों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया है.
  • मरकज आए थे UP के 169 जमाती
  • आगरा, जौनपुर, कानपुर में तलाशी
  • कई जमातियों को किया गया क्वारनटीन

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में कोरोना संक्रमण फैलने से उत्तर प्रदेश के 19 जिलों में कोहराम मच गया है. हालांकि यूपी सरकार ने दावा किया है कि मरकज की जमात में शामिल हुए 95 फीसदी लोगों की पहचान कर ली गई है. यूपी के 19 जिलों में अलर्ट है. कई शहरों की मस्जिदों में पनाह लेने वाले जमातियों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया है.

कोरोना का एपीसेंटर बन चुके तबलीगी जमात के मरकज में उत्तर प्रदेश के 169 जमाती शामिल थे. यूपी में इनकी खोजबीन जारी है, लेकिन सबसे बड़ा सिरदर्द ये पता लगाना है कि ये जमाती अबतक कितने लोगों से मिलकर कोरोना का खतरा बढ़ा चुके हैं. आगरा, प्रयागराज, शामली, कानपुर और जौनपुर जिलों पुलिस और प्रशासन मरकज के जुड़े तबलीगी जमात के लोगों की खोजबीन में जुटा है.

जौनपुर में 50 क्वारनटीन

पूर्वी यूपी के जौनपुर में निजामुद्दीन के मरकज से आने वाले 50 लोगों को क्वारंटीन किया गया है. इनमें 14 बांग्लादेशी और तीन उनके गाइड हैं. यहां पर 17 लोगों के खिलाफ विदेशी अधिनियम और पासपोर्ट एक्ट के तहत मुकदमा भी दर्ज किया गया है. जमात का हिस्सा रहे सभी बांग्लादेशी जौनपुर के सरायख्वाजा थाने के लाल दरवाजा मोहल्ले में रह रहे थे.

आगरा में 89 लोग क्वारनटीन

ताज नगरी आगरा में मरकज के जमातियों ने अड्डा बनाया था. जमात में शामिल 89 लोग शहर की 8 मस्जिदों में ठहरे हुए थे. इन्हें सिकंदरा इलाके के एक होटल में क्वारंटीन किया गया है. इनमें दिल्ली और मध्यप्रदेश के 13-13 जमाती हैं, जबकी बाकी आगरा के ही रहने वाले हैं. प्रशासन ने कोरोना जांच के लिए सभी के सैंपल लिए हैं. उनकी ट्रैवेल हिस्ट्री खंगाली जा रही है ताकि इनसे मिलने जुलने वालों को फौरन क्वारंटीन किया जा सके

प्रयागराज में 46 लोग क्वारनटीन

प्रयागराज के अब्दुल्ला मस्जिद पर जब पुलिस ने यहां छापा मारा तो स्टेशन के पास बनी इस मस्जिद में 9 मौलाना पनाह लिए मिले. इनमें 7 इंडोनेशिया, एक केरल और एक पश्चिम बंगाल का है. जमात में हिस्सा लेने के बाद 22 मार्च को प्रयागराज पहुंचे थे. इनके संपर्क में आने वाले 37 लोगों को क्वारंटीन किया गया है.

शामली में 57 लोग क्वारनटीन

शामली कस्बे में 200 के करीब जमातियों के मौजूद होने की खबर से प्रशासन में हड़कंप मचा है. खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद पुलिस ने 57 जमातियों की पहचान की है, जिन्होंने निजामुद्दीन के मरकज का दौरा किया था. हालांकि अभी तक किसी में कोरना के लक्षण नहीं मिले हैं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है.

कानपुर में 11 लोग क्वारनटीन

कानपुर में भी मरकज से आए जमातियों की खोजबीन जारी है. 11 लोगों को हैलट अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया है, जिनमें 8 विदेशी और तीन भारतीय हैं. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जमातियों की तलाश की जा रही है. साथ ही इनके संपर्क में आए लोगों को भी खोजा रहा है.