डांट के भय से युवक हुआ घर से लापता ,अनहोनी की आशंका

0

लखनऊ डांट से घबराया एक 17 साल का युवक बीते तीन दिनों से लापता है। लापता होने से पहले वह पड़ोस के एक युवक के सम्पर्क में था। घर से पैसे चुराकर वह कई बार वह पड़ोसी युवक को दे चुका है। गोमतीनगर पुलिस गुमशुदगी का मामला दर्ज कर जांच पड़तात में जुट गई है। मोबाइल सीडीआर से मिले सुराग के आधार पर पुलिस युवक से पुछताछ कर रही है।

ई 4/589 विनयखण्ड गोमतीनगर में रहने वाले शिवाजी सिंह एक एमएनसी कंपनी के सिनियर रिजनल हेड हैं। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार उनका 17 वर्षीय बेटा गौरव सिंह पड़ोसी दोस्त के बहकावे में आकर घर से पैसे चुराया करता था। लगभग डेढ़ साल पूर्व गौरव ने घर से 15 हजार रुपये चुराये। घर वालों को जब इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने गौरव पर पुछताछ की। गौरव ने बताया कि उसने यहा पैसा अपने एक पड़ोसी दोस्त को दिया है। इस बात को लेकर शिवाजी सिंह ने पड़ोसी से शिकायत दर्ज कराई थी। इस बात को लेकर दोनो परिवार के बीच कुछ विवाद भी हुआ था।

बीते 19 जनवरी को गौरव ने अपने दादा के 27000 रुपये चुराये। इस बात की भनक जब गौरव की मां को हुआ तो उसने पिता को यह बताने को कहा। इस बात से घबराया गौरव ने अपनी मां से 5000 रुपये चुराकर अपने दादा को दे दिया। बाद में परिजानों को इस बात की भी जानकारी हो गई। पिता की डांट से बचने के लिए गौरव सिंह घर से गायब हो गया। रात भर जब वह घर नहीं लौटा तो परिजनों ने गोमतीनगर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी।

मोबाइल सीडीआर से मिली कुछ अहम जानकारी के आधार पर पुलिस पड़ोसी युवक को हिरासत में लेकर पुछताछ कर रही है। परिजानों को इस बात की आशंका है कि पड़ोसी युवक उसे किसी बात को लेकर ब्लैकमेलिंग करता होगा। घर वाले गौरव के साथ किसी अनहोनी की आशंका से आतंकित हैं। इस बारे में इंस्पेक्टर गोमतीनगर धीरज कुमार सिंह ने बताया कि गौरव की गुमशुदगी के मामले में अभी कोई अपडेट नहीं है।