भारतीय सेना ने कोरोना वाइरस पीड़ित रोगियों के लिए बस को किया मोडिफाई, इन सुविधाओं से है लैस

0

नई दिल्लीदेश भर में इस समय कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया हुआ है और ऐसे में देशभर में कोविड-19 से लड़ने के लिए ऐसे सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं। इसी बीच इंडियन आर्मी ने कोरोनावायरस से पीड़ित रोगियों को ले जाने के लिए बस को खासतौर पर मोडिफाई किया है। इंडियन आर्मी के ADG-PI के ट्वीटर पेज से बस की फोटो जारी की गई है, जिसका इस्तेमाल कोविड-19 के मरीजों के लिए किया जाएगा।

इंडियन आर्मी के वेस्टर्न कमांड ने इस बस को मोडिफाई किया है। ADG-PI (एडिशनल डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ पब्लिक इंफॉर्मेशन) ने ड्राइवर और को-ड्राइवर की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 के रोगियों के इलाज के लिए बस में जरूरी बदलाव किए गए हैं। इस मोडिफाई बस में सिंगल एंट्री, ट्रीटमेंट चेंबर के साथ वेंटिलेटर्स और ड्राइवर और को-ड्राइवर के लिए आइसोलेशन की सुविधा दी गई है। यह मोडिफाई बस डिस्पोजेबल सीट कवर और डिकोंटेमिनेशन प्रोसेस के लिए तैयार है। इंडियन आर्मी की वेस्टर्न कमांड इस बस में मेडिकल स्टाफ के लिए स्पेशल प्रोटेक्टिव गियर और डिवाइस भी उपलब्ध करवा रही है।

देश के प्रधानमंत्री ने कोरोनावायरस को देश में फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया है। यह लॉकडाउन 14 अप्रैल तक चलेगा। भारत में अब तक कोरोनावायरस के 1000 मामले सामने आ चुके हैं। प्रधानमंत्री ने सभी लोगों से अपने घरों के अंदर रहने और समाज से दूर रहने के लिए कहा है। इस लॉकडाउन में सिर्फ फूड डिलीवरी सर्विस, फायर ब्रिगेड, पुलिस, मेडिसिन सर्विस आदि को बाहर आने-जाने की छूट दी है।

इंडियन आर्मी द्वारा मोडिफाई की गई बस की तरफ भारतीय रेलवे ने भी अपने कोच को Quarantine फेसिलिटी के लिए तैयार किया है। भारतीय रेलवे ने फिलहाल अपने परिचालन को बंद किया हुआ है, जिसके बाद रेल के कोच में ऐसे सुविधा को उपलब्ध करवाने की अनुमति मिली है। देशभर में इस समय सभी ऑटोमोबाइल कंपनियों ने अपने निर्माण प्लांट्स को बंद कर दिया है और कई ऑटोमोबाइल कंपनियां जैसे मारुति सुजुकी और महिंद्रा वेंटिलेटर और अन्य मेडिकल डिवाइस बनाने में मदद करने के लिए सरकार के साथ मिलकर काम कर रही हैं।