मध्य प्रदेश में कोरोना: इंदौर में मेडिकल टीम पर हमले के आरोप में 7 लोग गिरफ्तार

0

इंदौर में मेडिकल टीम पर हमले करने के आरोप में पुलिस ने 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार को एक कोरोना संदिग्ध की जांच करने गई टीम पर लोगों ने पथराव किया था। इसका विडियो काफी वायरल हुआ था।

हाइलाइट्स

  • इंदौर में कोरोना संदिग्ध की जांच के लिए गई मेडिकल टीम पर हुआ था हमला
  • हमले के आरोप में पुलिस ने 7 लोगों को किया गिरफ्तार
  • देश में अब तक 1,900 से ज्यादा कोरोना पीड़ित
  • जानलेवा कोरोना वायरस के कारण 50 लोगों की हो चुकी है मौत

इंदौर
मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना संदिग्ध की जांच के लिए गई मेडिकल टीम पर हमले के आरोप में पुलिस ने 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। मेडिकल कर्मचारियों के हमले के बाद पुलिस ने हमला करने वाले लोगों की तलाश शुरू कर दी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वायरल विडियो में शामिल लोगों की पहचान की गई और फिर उनकी गिरफ्तारी की गई है। बिहार समेत कई राज्यों में मेडिकल टीम और पुलिसकर्मियों पर हो चुका है हमला।

दरअसल, बुधवार को इंदौर में एक महिला की जांच करने पहुंचे स्वास्थ विभाग की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। इंदौर के ताटपट्टी भक्खल में हेल्थ वर्कर कोरोना वायरस के फैलाव को देखते हुए एक शख्स की जांच करने गए थे। लेकिन स्थानीय लोगों ने उल्टे ही उनपर पथराव कर दिया। इस मामले में एक एफआईआर भी दर्ज की गई थी। स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां कोई भी कोरोना पीड़ित नहीं है।

महिला डॉक्टर ने बताया क्या हुआ था
टीम की एक महिला डॉक्टर ने बताया था कि हेल्थ विभाग ने उन्हें स्क्रीनिंग के लिए वहां भेजा था। उन्होंने बताया कि हम लोग तीन दिन से वहां रोज जा रहे थे। हम वहां लोगों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं, मरीज को देख रहे थे। हमें एक व्यक्ति के कोरोना कॉन्टैक्ट की हिस्ट्री मिली थी तो हम वहां गए थे। हमलोगों ने जैसे ही पूछना शुरू किया उनलोगों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। उन्होंने बताया कि तीन डॉक्टर एएनएम और आशा कार्यकर्ता भी गए थे। साथ में तहसीलदार भी गए थे। पुलिस थी इसलिए हमलोग बचकर आ गए।

​20 हजार कोच बनेंगे आइसोलेशन वॉर्ड

  • ​20 हजार कोच बनेंगे आइसोलेशन वॉर्ड

    रेलवे 20 हजार कोचों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करेगा। इन कोचों में कुल मिलाकर 3.2 लाख से ज्यादा बेडों की व्यवस्था हो जाएगी। कोच को आइसोलेशन वॉर्ड में तब्दील करने के लिए सशस्त्र बल मेडिकल सेवा, कई जोन के मेडिकल विभाग, आयुष्मान भारत, स्वास्थ्य मंत्रालय से सलाह ली गई है।
  • सबसे पहले तैयार हो रहे 80 हजार बेड

    रेलवे ने बताया है कि सबसे पहले 5 हजार कोचों को बदला जाना शुरू हो चुका है। इससे 80 हजार बेड तैयार होंगे।
  • 6 दिन में बना था 2200 बेड का हॉस्पिटल

    रेलवे से पहले बाकी राज्यों में भी कोरोना से जंग तेज हो चुकी है। पिछले हफ्ते गुजरात में सिर्फ 6 दिन में कुल 2200 बेड के हॉस्पिटल बनाए गए थे। ये हॉस्पिटल अहमदाबाद, राजकोट, सूरत और वडोदरा मेंबने थे।
  • ​दो हफ्ते में बनेगा 1000 बेड वाला हॉस्पिटल

    चीन की तरह भारत में भी 1000 बेड वाला हॉस्पिटल बन रहा है। यह हॉस्पिटल ओडिशा में बनेगा। यह कोरोना वायरस के लिए देश का सबसे बड़ा 1000 बेड वाला हॉस्पिटल होगा।
  • दो हफ्ते में रिलायंस का हॉस्पिटल तैयार

    कोरोना से जंग में उद्योगपति भी साथ दे रहे हैं। महाराष्ट्र जहां कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज हैं वहां रिलायंस ने दो हफ्ते में 100 बेड का हॉस्पिटल खुलवाया। यह कोरोना मरीजों के लिए ही तैयार किया गया।


जमात की खोज करने गए पुलिस पर मधुबनी में हमला

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में कई लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी कई मस्जिदों में इसी तरह के जमात की खबरें आ रही हैं। ऐसी ही एक सूचना के आधार पर मंगलवार की देर रात मधुबनी पुलिस तहकीकात करने पहुंची थी। लेकिन मस्जिद में मौजूद लोगों ने पुलिस पर ना सिर्फ पथराव किया बल्कि फायरिंग भी कर दी। तबलीगी जमात समर्थकों के हमले के बाद बीडीओ और थानेदार वहां से जान बचाकर भाग निकले थे। लेकिन हिंसा पर उतारू हमलावरों ने प्रशासन की एक गाड़ी में तोड़फोड़ कर उसे तालाब में गिरा दिया। पुलिस में मामले में कार्रवाई करते हुए 15 लोगों के खिलाफ नामजद FIR करते हुए 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।


संदिग्ध की जांच करने गए मेडिकल टीम पर मुंगेर में हमला
बुधवार को मुंगेर में संदिग्‍ध मरीजों की जांच के लिए पहुंची मेडिकल टीम पर हमला हो गया। यहां एक बच्‍ची की मौत के बाद टीम उसके परिवार को होम क्‍वारंटीन में रखने और जांच के लिए गई थी। हंगामा होने के बाद जब पुलिस बुलाई गई थी तो उसकी गाड़ी पर भी स्‍थानीय लोगों ने पथराव किया। बिहार में कोरोना वायरस की जांच को लेकर पत्‍थरबाजी के कई मामले हो चुके हैं।