मौलाना साद का है विवादों से पुराना नाता, जबरन बने थे तबलीगी जमात के प्रमुख

0

निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मौलाना साद समेत तबीलीगी के सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस और प्रशासन ने दिन रात एक कर करीब 5 हजार जमातियों को क्वारंटीन किया है लेकिन 19 राज्यों में मरकज से गए कई जमाती अब भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं. देश को कोरोना के कहर से बचाने के लिए मौलाना के गुर्गों की सर्चहंट जारी है. जिस तबलीगी जमात के अमीर मौलाना साद हैं वो दुनिया के करीब 190 मुल्कों में काम करती है. इसके हजारों सदस्य हैं. कोरोना के संकटकाल में मरकज ने देश के सामने लाख मुसीबतें खड़ी कर दी हैं. विवादों के गुरू बनकर उभरे मौलाना साद सुन्नी मुसलमानों के सबसे बड़े संगठन तबलीगी जमात के संस्थापक मोहम्मद इलियास कांधवली के पड़पोते हैं. इस वीडियो में देखें मौलाना साद का विवादों से क्या है पुराना नाता.